Ultimate magazine theme for WordPress.

अचानक ममता का यू-टर्न, बोलीं- मोदी जी सॉरी, शपथ ग्रहण में आऊं- ना बाबा ना

0

बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने जारी एक चिट्ठी में लिखा है कि बीजेपी ने इस कार्यक्रम में मर चुके बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार वालों को बुलाया है. उन्होंने इसे राजनीतिक हत्या करार दिया. ममता ने कहा कि ये ‘राजनीतिक हत्या’ नहीं, बल्कि आपसी रंजिशों के मामले हैं.

दूसरी बार पीएम की शपथ लेने जा रही नरेंद्र मोदी सरकार के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से येन वक्त पहले राजनीतिक हलचल बढ़ गयी है. बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में आने से इनकार किया है, हालांकि पहले उन्होंने आने की बात की थी. ममता ने जारी चिट्ठी में लिखा है कि बीजेपी ने इस कार्यक्रम में मृत बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिवार वालों को बुलाया है और ममता ने इसे ‘राजनीतिक हत्या’ करार दिया. ममता बनर्जी ने कहा कि ये राजनीतिक हत्या नहीं है, बल्कि आपसी रंजिशों की बुनावट है.

ममता बनर्जी ने अपनी चिट्ठी की शुरुआत में लिखा है- ‘बधाई ! नये पीएम नरेंद्र मोदी जी. मैंने आपके संवैधानिक बुलावे को स्वीकार किया था और मैं आपके शपथ ग्रहण समारोह में आने को भी तैयार थी, लेकिन मैंने पिछले कुछ समय में मीडिया में आ रही रिपोर्टें देखी हैं, जिसमें बीजेपी कह रही है कि उसने बीजेपी के उन 54 कार्यकर्ताओं के परिवार को भी न्योता भेजा है, जिनकी बंगाल में राजनीतिक हत्यायें की गई है.’

आगे ममता ने लिखा है कि ये सब पूरी तरह झूठ है, बंगाल में कोई राजनीतिक हत्या नहीं हुई. जो
हत्याएं हुई हैं, वे आपसी रंजिश, पारिवारिक लड़ाई और दूसरे कारणों से हुई है. इनका राजनीति से कोई लेना-देना नहीं है, ऐसा कोई रिकॉर्ड भी नहीं है.

वे यह भी लिखती हैं- सॉरी नरेंद्र मोदी जी, इसी वजह से मैं आपके शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो पाऊंगी. ये समारोह लोकतंत्र का जश्न मनाने वाला था, लेकिन किसी एक राजनीतिक दल को ‘नीचा’ दिखाने वाला नहीं है. कृपया मुझे क्षमा करें.

दरअसल, बंगाल में लोकसभा चुनाव के दौरान जमकर हिंसा हुई थी. बीजेपी के कई कार्यकर्ता इस दौरान मारे भी गये थे, इन्हें बीजेपी शहीद बता रही है. नरेंद्र मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में बीजेपी ने इन 54 बीजेपी कार्यकर्ता के परिवारों को बुलाया भी था. जिसे भाजपा की ‘मिशन 2020’ की रणनीति का हिस्सा माना जा रहा है.

इस बार पश्चिम बंगाल में बीजेपी ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है. बंगाल की कुल 42 लोकसभा सीटों-LS में से बीजेपी ने 18 सीटें जीती हैं, वहीं टीएमसी को 22 सीटें मिली हैं, जबकि टीएमसी के पास इससे पहले 37 लोकसभा सीटें थीं. बंगाल में BJP को करीब 40 प्रतिशत वोट मिला है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.