Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

अनैतिक रूप से बैंक में पैसा जमा करने वालों के विरुद्ध आयकर की कार्रवाई

0

आयकर विभाग ने बिना बताये अनैतिक रूप से अर्थात गलत तरीके से बैंक में पैसा जमा करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की है। अब तक लगभग 86 मामलों में अभियोजन दायर हो चुका है। यह मामला साल
2018-19 का है। साल 2016-17 की तुलना में इसमें 1333.3 प्रतिशत की बढ़ोतरी देखी गई है। यह जानकारी रांची के प्रधान आयकर आयुक्त आरएन सहाय ने मीडिया को दी। इस अवसर पर संयुक्त आयकर आयुक्त निशा उरांव सिंगार भी उपस्थित थी।
आर.एन सहाय ने बताया कि साल 2018-19 में झारखंड में नये करदाता बनाने के लिए 2,10.790 का लक्ष्य दिया गया था। अभी तक झारखंड में करीब 1,90,450 नए आयकर दाता जुड़े हैं। यह लक्ष्य का 90.35% है। उन्होंने आगे बताया कि पूरे देश में टैक्स देनेवालों की संख्या बढ़ाने में बिहार और झारखंड दूसरे स्थान पर रहा। आर.एन सहाय ने बताया कि साल 2018-19 में नए टैक्स देने वालों की संख्या 2,06,390 हो गई है। यह वित्तीय वर्ष 2015-16 की तुलना में 275.5% अधिक है।

श्री सहाय ने बताया कि इस वित्तीय साल में अभी तक झारखंड में 175 सर्वे हुए और 100.84 करोड़ रुपए की अघोषित इनकम का आकलन भी किया गया, जिनमें से 7.73 करोड़ रूपए टैक्स का भुगतान किया
जा चुका है। मुख्य आयकर आयुक्त ने बताया कि टैक्स देने वालों के बेजोड़ और उत्कृष्ट योगदान के लिए विभाग उनकी सुविधा के लिए हमेशा तैयार है। समय-समय पर आयकर विभाग करदाताओं को जागरूक करने के लिए व्यापक कार्यक्रम आयोजित करता रहता है।
इस वर्ष भी विभाग ने करदाताओं की अपील प्रभाव और सुधार के दावों से तत्काल निपटने के लिए 16 से 31 मई तक विशेष पखवाड़े का आयोजन करने का कार्यक्रम बनाया है। इस अवधि में मूल्यांकन अधिकारी अपील के असर प्रदान करने और सुधार सम्बन्धी आदेश पारित करने को सर्वोच्च प्राथमिकता देंगे। उन्होंने ये भी कहा कि जानकारी जुटाने और अपनी दिक्कतें पहचानने वालों को इसी पखवाड़े कार्यालय में आना होगा।
श्री आर.एन सहाय ने जानकारी दी कि सुधार के क्षेत्र में TTS मिसमैच होने के कारण अनेक मांगों पर विशेष ध्यान दिया जाना है। टैक्स जमा करने वालों की ओर से कार्य में
विवाद होने सम्बन्धी कई मांगों सामने आने पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। ऐसे मामले
में करदाता के मध्य असंतोष रहता आया है। उन्होंने ये भी बताया कि इन पंद्रह दिनों के भीतर
कार्यक्रम को सार्थक बनाने के वास्ते संयुक्त आयकर आयुक्त पीके मोहंती नोडल ऑफिसर नियुक्त हैं और
उनके मोबाइल नंबर 93385 77322 पर इस बीच कार्यावधि के दौरान कभी भी संपर्क साधा जा सकता है।
आयकर संयुक्त निदेशक मनीष झा ने इस मौके पर कहा कि लोकसभा चुनाव के दौरान कालेधन के असर
की रोकथाम के लिए विभाग ने फुर्ती से अपना काम अंजाम दिया है। जैसे, हजारीबाग के एक होटल से 21 लाख रुपये नकद मिले, जो कांग्रेस के एक नेता द्वारा खर्च करने के लिए रखा गया था। यही नहीं, राजनीति से इतर लोगों से भी चुनाव के दौरान नकदी बरामद की गयी. यह रकम करीब 2.49 करोड़ रुपए रही,
इसकी अभी जांच चल रही है। आयकर विभाग के संयुक्त निदेशक मनीष झा का कहना है कि लोकसभा चुनाव के दौरान काले धन के असर को रोकने के लिए उनके विभाग ने चुस्ती-फुर्ती से अपने दिए

कर्तव्य का पालन भी किया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.