Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

कांग्रेस का मोदी से सवाल- आईएनएस सुमात्रा पर कैसे पहुंचे थे अक्षय कुमार

0
  • आईएनएस विराट को राजीव की टैक्सी बताने पर कांग्रेस नेता स्पंदना का प्रधानमंत्री मोदी पर पलटवार
  • कांग्रेस की सोशल मीडिया रणनीतिकार ने मोदी को टैग करते हुए ट्विटर पर शेयर की तस्वीरें

 

नई दिल्ली  नौसेना के जहाज के इस्तेमाल के मुद्दे पर अब कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर पलटवार किया है। कांग्रेस नेता दिव्या स्पंदना ने ट्विटर पर तस्वीरें जारी कर मोदी से सवाल किए हैं। उन्होंने पूछा- प्रधानमंत्री का कनाडाई नागरिक अक्षय कुमार को अपने साथ आईएनएस सुमित्रा पर ले जाना क्या ठीक था। इससे पहले मोदी ने एक रैली में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा आईएनएस विराट का इस्तेमाल एक ‘टैक्सी’ के रूप में किए जाने का जिक्र किया था।

2016 में आईएनएस सुमात्रा पर थे अक्षय कुमार
स्पंदना ने 2016 के अपने एक आर्टिकल को भी टैग किया। इसमें सवाल किया गया था कि बॉलीवुड अभिनेता आईएनएस सुमात्रा पर कैसे पहुंचे? लेख में कहा गया कि वे नौसैना के अधिकारियों और अतिविशिष्ट अतिथिगणों के साथ उस जहाज पर मौजूद थे। स्पंदना ने रिटायर्ड वाइस एडमिरल विनोद पसरीचा के बयान का हवाला भी दिया। पसरीचा ने कहा था कि राजीव की आईएनएस विराट की यात्रा ऑफिशियल थी। यह किसी तरह की पिकनिक नहीं थी।

मोदी ने कहा था- राजीव ने वॉरशिप का अपमान किया

मोदी ने बुधवार को दिल्ली की रैली में कहा था, ‘‘कांग्रेस के नामदार परिवार ने आईएनएस विराट का निजी टैक्सी की तरह इस्तेमाल किया, उसका अपमान किया था। ये बात तब की है जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री थे। उन्होंने एक खास द्वीप में छुट्‌टी मनाने के लिए युद्धपोत का 10 दिन तक इस्तेमाल किया। द्वीप में सारी व्यवस्था का जिम्मा सरकार और नौसेना को दिया गया था। इस दौरान उनके ससुरालवाले भी थे। कांग्रेस के इस नामदार परिवार ने जनपथ को भी दलालपथ बना दिया।’’ मोदी 1987 में राजीव गांधी की लक्षद्वीप के एक आईलैंड की यात्रा का जिक्र कर रहे थे।

आईएनएस विराट पर राजीव लड्डू-पेड़े बांटने नहीं गए थे, वह सरकारी दौरा था

गुरुवार को पूर्व नौसेना प्रमुख एडमिरल (रि.) एल रामदास ने बयान जारी किया। रामदास घटनाक्रम के दौरान दक्षिणी कमान के चीफ थे। उन्होंने कहा, ‘‘जिस वाकये को राजीव का सपरिवार छुट्टी मनाना बताया जा रहा है, वह दरअसल उनका सरकारी दौरा था। वे लोग वहां लड्डू-पेड़े बांटने नहीं गए थे। राजीव के साथ आईएनएस विराट पर कोई विदेशी नहीं था।’’

Leave A Reply

Your email address will not be published.