Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

UP की राजनीतिक कुंजी से तैयार केंद्र का ताला, क्या होंगे समीकरण और सीटों का खेल

0

नयी दिल्ली। जनसंख्या के ल‍िहाज से देश के सबसे बड़े राज्य UP 80 लोकसभा सीटें समेटे अब की बार भी दिल्‍ली की राह हमवार कर सकता है। इसलिए लोकसभा चुनाव बाद आये Exit poll में यूपी में SP-BSP गठबंधन की राह अधिक कठिन दिखती है.

एग्जिट पोल के अनुसार, SP, BJP और RJD गठबंधन के बाद भी UP में केसरिया लहर के छह Exit Polls के नतीजों का औसत देखें, तो BJP नेतृत्व वाले NDA को 52 सीटें मिल रही हों, तो दिल्‍ली बाकी चुनावी मौसम की तरह एक बार फिर महत्‍वपूर्ण रहने जा रहा है. इनमें सबसे अधिक 80 सीटें उत्‍तर प्रदेश से मिल सकती हैं.

देश के राजनीतिक गलियारों में बरसों से यह बात चर्चा में है कि दिल्‍ली का रास्‍ता Uttar Pradesh की राजनीतिक दबदबे से ही निर्धारित होता रहता है. 2019 के हुए लोकसभा चुनाव के RESULTS आने में थोड़ा ही समय बचा हैं, ऐसे में कयासबाजी का दौर तेजी से घूम रहा है। आबादी को देखते हुए देश के सर्वाधिक विशाल इस राज्य का राजनीतिक ऊंट किधर करवट ले ले, ये तो कल पता चलेगा, लेकिन Exit Polls को देखें, तो राज्‍य में केसरिया का जोर अधिक दिख सकता है.

आइए तसल्ली से समझते हैं एग्जिट पोल के अनुमानों की आंधी के बीच क्‍या है UP का राजनीतिक समीकरण और किधर जाती दिख रही है तस्वीर

लोकसभा चुनाव की समाप्ति की वेला में हुए एग्जिट पोल के अनुमान के हवाले से एसपी-बीएसपी-आरएलडी का महागठबंधन काफी मजबूर दिखता है। मतगणना के बाद UP में BJP का प्रदर्शन बढ़िया रहने की उम्मीदें अभी से की जा रही हैं. अकेले बीजेपी को देशभर से कुल 300 या उससे ज्यादा सीटें मिलने की भविष्यवाणी कर चुके ‘टुडेज चाणक्य’ और ‘एक्सिस माय इंडिया’ का कहना है कि उत्‍तर प्रदेश में एसपी-बीएसपी गठबंधन बीजेपी को रोकने में पूरी तरह नाकाम दिखा है। ‘एक्सिस माय इंडिया’ की राय में यूपी की 80 सीटों में NDA को 62 से 68 सीटें मिल सकती हैं। इसमें अकेले बीजेपी 60-66 और सहयोगी रहे अपना दल को 2 सीटें मिल सकती हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.