Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

चीन वहां पर खड़ा, जहां उसकी हानि तय

0

अमेरिका के साथ जारी ट्रेड वॉर में चीन जबरदस्त दबाव में फंसा है। चीन वहां पर खड़ा है, जहां स्वयं को हानि पहुंचाये बगैर वह किसी भी सूरत में आगे नहीं बढ़ पायेगा। उधर, अमेरिका के साथ व्यापार समझौते से जुड़े चीन के ही सूत्र बताते हैं कि अमेरिका से व्यापार  की रस्साकशी के कारण चीन की लम्बे समय तक  आर्थिक प्रगति का पहिया थम सकता है। तब तो चीन अमेरिका के साथ व्यपार की जंग की स्थिति समाप्त करने की कोशिश करते हुए कोई भी समझौता करने की कोशिश की सोच सकता है, होगा यह कि उसे देश में ही कुछ लोगों की नाराजगी उठानी पड़ सकती है। वैसे भी अमेरिका की मांग है कि चीन सरकारी कंपनियों को दी जाने वाली सब्सिडी और कर-छूट खत्म करे। अगर चीन ऐसा करने को राजी हो जाता है तो उसके लिए यह एक तरह से रणनीतिक पराजय होगी। इसके अलावा, communist party की चीन की अर्थव्यवस्था पर भी पकड़ ढीली पड़ने की आशंका सच हो सकती है। जानकारों का कहना है कि हमारा इरादा  अमेरिका के साथ ऐसा समझौता करने पर है, जो दोनों पक्षों को मान्य हो।

Leave A Reply

Your email address will not be published.