Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

जानिए झारखण्ड लोकसभा चुनाव से जुड़ी खास बातें.

0

लोकसभा चुनाव 2019 कई मायनो में खास रहा है, देश के हर राज्य भांति झारखण्ड में चुनाव की कुछ खास बातें आपको बताएँगे. चुनाव को लेकर झारखंड में 2,24,04,179 मतदाताओं के नाम वोटर लिस्ट में दर्ज किए गए थे. इसमें से पुरष वोटरों की संख्या 1,16, 98,304, महिला वोटरों की संख्या 1,06,65,268, थर्ड जेंडर के मतदाताओं की कुल संख्या 231, सेवा मतदाताओं की संख्या 40376, ओवरसीज मतदाताओं की कुल संख्या 40 और नए मतदाताओं (जिन्होंने पहली बार वोट किया) की कुल संख्या 3,32,960 थी. नए वोटरों की बात करें तो पुरुषों की संख्या 1,98,217 थी वहीँ महिलाओं की संख्या 1,34,324 और थर्ड जेंडर की संख्या 19 रही.

1,05,881 दिव्यांग वोटरों ने दिखाई सत्ता में अपनी भागीदारी

लोकसभा चुनाव में दिव्यांग मतदाताओं ने अपना नेता चुनने में भागीदारी दिखाई थी. भारत निर्वाचन आयोग ने दिव्यांग वोटरों को कोई दिक्कत न आए इसलिए मतदान केंद्रों पर व्हील चेयर, रैंप के साथ उन्हें घर से लाने-ले जाने के लिए मुफ्त वाहन की सुविधा उपलब्ध कराई थी.

झारखंड में 1,24,377 दिव्यांग वोटर के नाम वोटर लिस्ट में शामिल थे, जिनमें से 1,05,881 दिव्यांग मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया. अगर हम पुरुष दिव्यांग वोटरों की बात करें तो उनकी संख्या 64602 थी वहीँ महिला दिव्यांग मतदाताओं की संख्या 41279 रही. कुल मिला कर दिव्यांग मतदाताओं के मतदान का प्रतिशत 85.12 रहा.

1,29,636 मतदान कर्मियों ने मतदान प्रक्रिया किया संचालन

झारखंड में चार चऱणों में 14 सीटों के लिए चुनाव हुए, जिसमे 1,29,636 मतदानकर्मियों को प्रतिनियुक्त किया गया था. सभी मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण और नियमो के अनुकूल मतदान प्रक्रिया के सफल संचालन में इनका अहम योगदान रहा. इसके अलावा महिलाओं द्वारा संचालित मतदान केंद्रों में महिला मतदानकर्मियों के साथ महिला सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया था.

29,464 मतदान केंद्र बनाए गए

झारखंड में 14 लोकसभा सीटों के चुनाव के लिए कुल 29,464 मतदान केंद्र बनाए गए थे. ये मतदान केंद्र 20053 भवनों में अवस्थित थे.इन सभी मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए आर्म्ड पुलिस फोर्स की तैनाती की गई थी. इस बार चुनाव की खास बात रही कि किसी भी मतदान केंद्र में किसी भी तरह की कोई परेशानी नहीं आई.

1432 आदर्श मतदान केंद्र, 448 महिलाओं द्वारा संचालित मतदान केंद्र
2019 के लोकसभा चुनाव को लेकर झारखंड़ में 1432 आदर्श मतदान केंद्र का निर्माण किया था. इसके साथ ही 448 मतदान केंद्र महिलाओं द्वारा संचालित किया गया.

नज़र रखने के लिए पुख्ता इंतजाम

मतदान केंद्रों की गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए थे. 2775 मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग की गई, वहीं सभी मतदान केंद्रों पर चुनाव प्रक्रिया की निगरानी के लिए वीडियोग्राफी भी कराई गई. इसके अलावा माइक्रो ऑब्जर्वरों द्वारा भी मतदान केंद्रों पर नज़र रखी गई.

झारखंड के 14 सीटों के लिए 229 प्रत्याशी थे मैदान में –25 महिला प्रत्याशी

झारखंड में 14 सीटों के लिए कुल 229 मैदान में खड़े थें. इनमें 25 महिला प्रत्याशी भी शामिल हैं. इनमें ए.आई.टी.सी के 6, बहुजन समाज पार्टी के 13, भारतीय जनता पार्टी के 13, सीपीआई के 3, सीपीआई एम के 1, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के 7, आजसू के 1, झारखंड मुक्ति मोर्चा के 4, झारखंड विकास मोर्चा (प्र) के 2 और राष्ट्रीय जनता दल के 2 प्रत्याशियों के अलावा मान्यता प्राप्त राजनीतिक दल ( मान्यता प्राप्त राष्ट्रीय व राज्यस्तरीय राजनीतिक दल के अलावा) के 81 और 95 निर्दलीय प्रत्याशी भी चुनाव मैदान में खड़ा हुए.

पुरे देश में मतदान हो चुकें हैं. जनता से लेकर नेताओं को रिजल्ट का इंतज़ार है. 23 मई को वोटों की गिनती की जाएगी.

चुनाव परिणाम की पल-पल की खबर के लिए जुड़िये हम से 23 मई को

Leave A Reply

Your email address will not be published.