Ultimate magazine theme for WordPress.

जानिए तुलसी का पौधा किन मायनों में हैं खास ?

0

भारत के कई घरों में तुलसी का पौधा पाया जाता है. हिन्दू परिवारों में तुलसी के पौधे की पूजा भी की जाती है. तुलसी में अनेक जैविक रसायन पाए जातें हैं. तुलसी के बीजों में लगभग 17.8 प्रतिशत की मात्रा में तेल पाया जाता है. इसके अलावा तुलसी को एक औषधीय पौधा माना जाता है. इसके इस्तेमाल से कई बीमारियों के इलाज के किए जाते हैं. तुलसी की 108 गुरियों की माला होती है. एक गुरिया अन्य माला के जोड़ पर जुड़ी होती है. इसलिए इस माला को गुरु की गुरिया कहते हैं.

आयुर्वेद के मुताबिक तुलसी के पौधे का हर भाग सेहत के लिए फायदेमंद साबित हो सकता है, क्यूँकि तुलसी की जड़, उसकी शाखाएं, पत्ती और बीज सभी का अपना-अपना महत्व है.

स्वास्थ्य के लिए तुलसी किस प्रकार है फायदेमंद

  • खांसी व गला बैठने पर तुलसी की जड़, सुपारी की तरह चूसी जाती है और हरी पत्तियों को आग पर सेंक कर नमक के साथ खाने से खांसी तथा गला बैठना ठीक हो जाता है.
  • सांस सम्बंधित बीमारी में तुलसी के पत्ते काले नमक के साथ सुपारी की तरह मुंह में रखने से आराम मिलता है.
  • तुलसी के पत्तों के साथ 4 भुनी लौंग चबाने से भी खांसी चली जाती है.
  • तुलसी के कोमल पत्तों को चबाने से खांसी और नजले से राहत मिलती है.
  • जुकाम में – तुलसी के पत्ते, अदरक और काली मिर्च से तैयार की गयी चाय पीने से तुरंत लाभ पहुंचता हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.