Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

झारखंड वासियों को ज्यादा समय तक निभाना होगा गर्मी का साथ.जानिए कब आएगा मानसून

0

रांची: झारखंड वासियों को इसबार गर्मी का साथ ज्यादा लम्बे समय तक निभाना पड़ सकता है. अंदाज़ा लगया जा रहा है कि इस बार झारखंड में मानसून के कदम देर से पड़ेंगे. झारखंड में मानसून 20 से 25 जून तक आने की उम्मीद लगाई जा रही है.

झारखंड के ज्यातर जिलों का तापमान 40 डिग्री से. के करीब होगा. जबकि पलामू के मेदिनीनगर का तापमान 41 के करीब रहने की संभावना है. हालांकि इस दरम्यान प्री मॉनसून की गतिविधियां में उलटफेर हो सकता है. समय-समय पर तेज हवाओं के साथ थोड़ी बारिश कि बूंदें भी झारखंड की ज़मीन को गले लगा सकती है. लेकिन ऐसी बारिश गर्मी को एक-दो दिनों के लिए ही प्रभाव डालेंगी.

झारखंड में इस बार गर्म मौसम की मियाद बढ़ने का अनुमान है। यह अनुमान मानसून के लेट होने की संभावना से लगाया जा रहा है। झारखंड में मानसून 20 से 25 जून तक आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। ऐसी स्थिति में झारखंड वासियों को इस बार भीषण गर्मी की लंबी अवधि का सामना करना पड़ सकता है। झारखंड के अधिकांश जिलों का तापमान 40 डिग्री से. के करीब होगा। जबकि मेदिनीनगर का तापमान 41 के करीब रहने की संभावना है। हालांकि इस दौरान प्री मॉनसून की गतिविधियां भी सक्रिय रहेंगी। समय-समय पर तेज हवा के साथ अल्प बारिश होगी। लेकिन इससे गर्मी को एकाध दिनों के लिए ही प्रभावित कर सकेगी।

मौसम विज्ञानियों की माने तो मानसून इस बार छह जून को केरल तट का दरवाज़ा खटखटा सकता है. केरल में मानसून आने का सामान्य समय 28 मई से लेकर चार जून तक है. इस लिहाज से मानसून इसबार लेट हो चुका है. केरल तट पर मानसून को कदम रखने के बाद इसे झारखंड तक आने में कम से कम 12 से 15 दिन लगते हैं. झारखंड में आमतौर पर मानसून के आने का समय 8 से 15 जून के बीच है. लेकिन इस बार मानसून झारखंड के लोगों को 20 जून के बाद तक इंतज़ार करा सकता है.

इस बार जून महीने में सामान्य तापमान का औसत बढ़ने की संभावना है. तापमान चार से पांच डिग्री तक बढ़ सकता है. खासकर मेदिनीनगर, चतरा, गढ़वा, लातेहार, कोडरमा, पूर्वी सिंहभूम, पश्चिमी सिंहभूम, सरायकेला खरसांवा, धनबाद, पाकुर आदि जिलों तापमान तापमान 40 डिग्री के करीब हो सकता है.

राजधानी रांची में जून के महीने का औसत तापमान 33.4 डिग्री सेल्सियस है, यह बढ़ कर 38 से 39 डिग्री के करीब हो बढ़ सकता है.

मौसम विभाग के निदेशक डॉ. एस.के कोटाल ने बतया है कि झारखंड में मानसून आगमन का पूर्वानुमान इसके केरल तट से टकराने के बाद ही किया जा सकता है. इस वक़्त कुछ भी कहना सही नहीं होगा. झारखंड में मानसून के आने का सामान्य समय 8 से 15 जून के बीच है, लेकिन इस बार कुछ देरी हो साकची है. इस दौरान बारिश नहीं होने से गर्मी बढ़ेगी. लेकिन समय-समय पर प्री मानसून की हलचल गर्मी से राहत दे पंहुचा सकती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.