Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

झारखण्ड के उपराजधानी में आखिरी चरण का मतदान, 2014 के मुकाबले कम हुआ मतदान

0

दुमका: लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में 59 सीटों के लिए 8 राज्यों में मतदान. उनमें झारखंड की चर्चित दुमका सीट भी शामिल है। दुमका से झारखंड मुक्ति मोर्चा के अध्यक्ष पूर्व मुख्यमंत्री शिबू सोरेन खड़े हैं वहीँ उनके सामने भाजपा प्रत्याशी सुनील सोरेन खड़े हैं।

दुमका लोकसभा सीट के लिए रविवार सुबह 7 बजे से मदतान शुरू हुआ। मतदान के लिए कुल 1891 बूथ बनाए गए हैं जहां 13,96, 308 लाख मतदाता अपने वोट का इस्तेमाल कर अपना नेता चुनेंगे. चुनाव मैदान में कुल 15 प्रत्याशी हैं खड़े.

लोकसभा चुनाव बाकी चुनाव से हट कर है और इसकी एक वजह यहाँ भी नज़र आयी,प्रत्येक बूथ पर पहले मतदाता को चॉकलेट खिलाकर मुंह मीठा कराया गया. साथ ही प्रथम मतदाता का प्रसस्ति पत्र भी दिया गया है। दुमका के एक मतदाता ने मतदान के बाद बताया कि इस यादगार लम्हे को कभी भूल नहीं सकता। डिजिटल इंडिया और सेल्फी के ज़माने में मतदान केंद्रों पर सेल्फी प्वाइंट भी बनाया गया ताकि मतदान करने के बाद मतदान सेल्फी ले सके.

  • दुमका लोकसभा क्षेत्र में पहले दो घंटे में मतदान की गति काफी धीमी चल रही थी। यहां पहले दो घंटे में मात्र 13.84 फीसद वोटिंग दर्ज हुई है.
  • सुबह 11 बजे तक 28.60 फीसद मतदान दर्ज किया गया। हालांकि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में तेजी से मतदान हुआ.
  • दोपहर 1 बजे तक 53.15 फीसद मतदानः

जैसे- जैसे दिन चढ़ रहा था ठीक वैसे ही पारा भी बढ़ते जा रहा था लेकिन दुमका लोकसभा क्षेत्र में मतदान का ग्राफ भी तेजी से बढ़ा। सभी छह विधानसभा क्षेत्र- दुमका, जामताड़ा, सारठ, जामा, शिकारीपाड़ा और नाला विधानसभा क्षेत्र में मतदान 53.15 % ऊपर पहुंच गया।

दोपहर 3 बजे तक दुमका लोकसभा क्षेत्र में मतदान का प्रतिशत 60 पार पंहुचा.

2014 की अपेक्षा कम मतदानः 2014 लोकसभा चुनाव के मुकाबले के इस बार दुमका में कम हुए मतदान. 2014 के दाैरान दुमका में 70.93% मतादन दर्ज़ किये गए थे लेकिन इसबार 66.79% मतदान दर्ज किया गया। यह 2014 के मुक़ाबले 4.14% कम हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.