Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

मंत्रियों की कामयाबी का ग्राफ 87 प्रतिशत

0

मोदी सरकार के 47 मंत्रियों ने इस बार चुनावी दंगल में हिस्सा लिया, जिनमें 41 जीते और छह मंत्री हार गये. इस तरह मंत्रियों के सक्सेस रेट को देखिये तो पता चलता है कि उनका यहां कामयाबी का ग्राफ 87 प्रतिशत रहा. इसी तरह बीजेपी ने 2014 में जीतीं अपनी 24 सीटें गंवाई भी हैं, लेकिन नयी 56 सीटें जोड़ी भी हैं.

पिछली एनडीए सरकार में पीएम नरेंद्र मोदी समेत 71 मंत्री थे, जिनमें से जिनमें से 47 ने चुनाव लड़ा, लेकिन 41 जीतकर इस बार आये। इस तरह मोदी सरकार के मंत्रियों का सक्सेस रेट 87% बैठता है। यहां सिर्फ 6 मंत्री ही इस बार की चुनाव कसरत में हारे हैं। जिन 41 मंत्रियों ने जीत दर्ज की है, उनमें से 33 मंत्री ऐसे थे जिन्होंने 1 लाख से अधिक वोटों से जीत के रिकॉर्ड बनाये। इनमें फरीदाबाद सीट से कृष्णपाल सिंह सबसे अधिक वोटों के अंतर से जीते हैं। कृष्णपाल सिंह ने कांग्रेस के अवतार सिंह भड़ाना को 6,38,239 वोटों से हराया, वहीँ पश्चिम बंगाल की बर्दवान दुर्गापुर चुनावी क्षेत्र से निर्वाचित एसएस अहलूवालिया सबसे कम अंतर से जीत पाये हैं। अहलूवालिया ने तृणमूल कांग्रेस की ममताज संघमिता को 2,349 वोटों से हराया है।

15 मंत्री राज्यसभा में, 6 मंत्रियों के कटे थे टिकट

पिछली मोदी सरकार में 71 मंत्रियों में से 15 राज्यसभा से हैं, जबकि 6 मंत्रियों को टिकट नहीं दिये गये थे। लेकिन इनमें से तीन मंत्रियों- सुषमा स्वराज, उमा भारती और रामविलास पासवान ने चुनाव नहीं लड़ा।

6 हारे मंत्रियों में से 5 को 3 लाख से अधिक वोट मिले

इस चुनाव में जो मंत्री हारे हैं, उनमें से 5 को 3 लाख से ज्यादा वोट मिले थे। इनमें से सबसे अधिक
5,14,744 वोट हंसराज अहीर को मिले थे, वे महाराष्ट्र के चंद्रपुर क्षेत्र से खड़े थे। अहीर को कांग्रेस के सुरेश धनोरकर ने 44,763 वोटों से हराया, वहीँ महाराष्ट्र की रायगढ़ चुनाव क्षेत्र से शिवसेना के टिकट पर खड़े अनंत गीते सबसे कम 31,438 वोटों के अंतर से हार गये। सुरेश को 4,55,530 वोट मिले थे। हारने वाले मंत्री थे- अनंत गीते, मनोज सिन्हा, हरदीप पुरी, केजे अल्फोंस-ये तीसरे नंबर पर रहे, हंसराज अहीर, पी. राधाकृष्णन

मोदी सरकार की 4 महिला मंत्री फिर से जीतीं, स्मृति पहली बार बनीं लोकसभा सदस्य

मोदी सरकार में मंत्री रहीं मेनका गांधी, हरसिमरत कौर बादल, अनुप्रिया पटेल और साध्वी निरंजन ज्योति ने जीत दर्ज की। स्मृति ईरानी पहली बार अमेठी से राहुल गांधी को हरा कर लोकसभा में पहुंची हैं। स्मृति ने राहुल को 55,120 वोटों से हराया है।

वोटों का अंतर कितने मंत्री जीते

  1. 1 लाख से कम 8
  2. 1 लाख से 2 लाख 9
  3. 2 लाख से 3 लाख 11
  4. 3 लाख से 4 लाख 6
  5. 4 से 6 लाख से 5
  6. 5 से लाख से 6 लाख 1
  7. 6 लाख से ज्यादा 1

Leave A Reply

Your email address will not be published.