Ultimate magazine theme for WordPress.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत को सचिन पायलट ने हराया ?

0

चुनावी मौसम में हार का नारियल एक दूसरे के सर पर फोड़ने का रिवाज भारतीय राजनीति में नया नहीं है. ऐसा ही एक नारियल दे मारा है राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सचिन पायलट के सर पर. राज्य में भाजपा के हाथों हार का सामना करने के बाद, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अपने बेटे वैभव गहलोत की हार की जिम्मेदारी राज्य कांग्रेस प्रमुख सचिन पायलट पर डाल दिया है.

एक न्यूज चैनल के साथ एक इंटरव्यू में, गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट को जोधपुर लोकसभा सीट हारने के लिए वैभव गहलोत की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

सचिन पायलट ने कहा कि हम भारी बहुमत से जीतेंगे। उन्होंने कहा कि हमारे पास छह विधायक हैं और हमने वहां बहुत अच्छा चुनाव प्रचार किया है .

सचिन पायलट को कम से कम उस (जोधपुर) सीट की जिम्मेदारी लेनी चाहिए.

इस बीच, उप मुख्यमंत्री, सचिन पायलट ने टिप्पणी करने से इनकार कर दिया है, लेकिन गहलोत के बयान पर आश्चर्य व्यक्त किया है.

इससे पहले, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अशोक गहलोत का नाम अन्य मुख्यमंत्रियों में उनके राज्यों में पर्याप्त मेहनत नहीं करने के लिए लिया था.

राहुल गांधी ने यह भी कहा था कि पार्टी के वरिष्ठ नेता अपने बेटों के चुनाव प्रचार में अपना समय लगाते रहें,जब की उन्हें राज्य भर में पार्टी के लिए प्रचार करना चाहिए था. चुनावी चर्चा के बाद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पद से इस्तीफा देने की पेशकश की, लेकिन इसे सर्वसम्मति से कांग्रेस कार्य समिति (CWC) ने अस्वीकार कर दिया. लोकसभा चुनावों में, कांग्रेस राज्य की कुल 25 सीटों में से एक भी सीट नहीं जीत सकी.

राजस्थान की हॉट सीट, जोधपुर में केंद्रीय राज्य मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बेटे वैभव गहलोत के बीच कड़ी टक्कर देखी गई. शेखावत ने वैभव को 2,74,440 वोट से हरा कर जीत हासिल की.

Leave A Reply

Your email address will not be published.