Ultimate magazine theme for WordPress.

राहुल गांधी बोले- लोकसभा में जिम्मेदारी लेने को तैयार, लेकिन एक महीने में पार्टी चुने अगला अध्यक्ष

0

नई दिल्ली। चुनाव में कांग्रेस की हार के कारण राहुल गांधी अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने पर अडिग हैं। इसे लेकर मंगलवार को पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा, संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने राहुल गांधी से उनके घर पर मुलाकात की। साथ ही राजस्थान में पार्टी (Congress) के सफाये को लेकर राज्य सरकार के कई मंत्रियों की ओर से जिम्मेदारी तय करने की मांग को देखते हुए इस पर चर्चा हुई, इस बीच, राहुल गांधी ने कहा कि संसद में जिम्मेदारी लेने को मैं तैयार हूं, लेकिन एक महीने के अंदर पार्टी नया अध्यक्ष चुन ले।

सूत्रों का कहना है कि राहुल गांधी ने गहलोत और पायलट से मुलाकात की। ये मुलाकात खास कर राजस्थान को लेकर हुई थी, राज्य में लोकसभा चुनाव में पार्टी का सफाया हो गया है. कांग्रेस अध्यक्ष के 12 – तुलगक लेन आवास पर सबसे पहले प्रियंका पहुंचीं. इसके बाद केसी वेणुगोपाल, मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला और पायलट आये. कुछ देर बाद सुरजेवाला और पायलट चले गये. इसके बाद राहुल के आवास पर गहलोत पहुंचे. सूत्र बताते हैँ कि राहुल गांधी से मुलाकात से पहले गहलोत ने प्रियंका से अलग से भेंट की थी.

दरअसल, राहुल गांधी ने 25 मई को सीडब्ल्यूसी की बैठक में हाल के लोकसभा चुनाव में राजस्थान और एमपी में पार्टी के सफाये पर खास तौर पर नाराजगी जताई थी. मीडिया में आई खबरों में कहा गया था कि सीडब्ल्यूसी बैठक में राहुल गांधी ने गहलोत, एमपी के सीएम कमलनाथ और सीनियर नेता पी चिदंबरम सहित कई बड़े क्षेत्रीय नेताओं का नाम लेते हुए कहा था कि इन लोगों ने बेटों और रिश्तेदारों को टिकट दिलाने के लिए जिद की और उन्हीं को जिताने में जुटे रहे. इनका ध्यान दूसरे स्थानों पर नहीं गया ही नहीं.

दो दिन पहले इसी बैठक में हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की थी. सीडब्ल्यूसी ने तुरंत प्रस्ताव पारित कर इसे आम राय से खारिज कर दिया था, साथ ही उन्हें पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया था.

Leave A Reply

Your email address will not be published.