Ultimate magazine theme for WordPress.

शपथ ग्रहण से पहले चाय पर चर्चा : भावी मंत्रियों से मिले पीएम मोदी

0

नई दिल्ली। पीएम नरेंद्र मोदी ने शाम 7 बजे शपथ ग्रहण करने से पहले नये मंत्रिमंडल के भावी मंत्रियों से ‘चाय पर चर्चा’ की। टीवी पर आ रही ख़बरों पर गौर करें, तो करीब 41 मंत्रियों के नाम मोदी सरकार ने फाइनल कर लिए हैं। ये नये एमपी मंत्री के रूप में शाम को पीएम मोदी के साथ पद और गोपनीयता की शपथ लेंगे। मोदी के सरकारी निवास 7, लोक कल्याण मार्ग पर हुई बैठक में अमित शाह, राजनाथ सिंह, रविशंकर प्रसाद, स्मृति ईरानी, आरके सिंह, नितिन गडकरी, रामदास आठवले, वीके सिंह, मनसुख मांडविया, थावरचंद गहलोत, अनुराग ठाकुर आदि कई नेता मौजूद थे। इस बीच, गुजरात बीजेपी अध्यक्ष का एक ट्वीट सामने आया, जिसमें यह साफ हो गया कि अमित शाह सरकार में मंत्री बनने की तैयारी कर चुके हैं।

इस बीच चर्चा है कि सरकार में शामिल कुछ मंत्रियों के नाम से कोई भी चौंक सकता है, क्योंकि विदेश सचिव रहे एस. जयशंकर भी प्रधानमंत्री के आवास पर उनसे मिल चुके हैं। इसलिए, इस बात की ज्यादा संभावना है कि जयशंकर भी नये मंत्री के रूप में शामिल हो सकते हैं। ऐसे में, राष्ट्रपति भवन में अब से कुछ देर बाद शुरू होने जा रहे शपथ ग्रहण समारोह में सैकड़ों मेहमानों का पहुंचना शुरू भी हो गया है।

बीजेपी के अलावा, उसकी सहयोगी पार्टियों में से जिनके शामिल होने की संभावना है, वे हैं- शिवसेना, जनता दल- यूनाइटेड-जेडीयू, अपना दल, लोक जनशक्ति पार्टी-एलजेपी, शिरोमणि अकाली दल और असम गण परिषद से एक-एक मंत्री होना चाहिए। शपथ ग्रहण के दौरान सहयोगियों में से अब तक एलजेपी के राम विलास पासवान, अकाली दल से हरसिमरत कौर बादल, शिवसेना से अरविंद सावंत और रिपब्लिकन पार्टी से रामदास आठवले को भी फोन किये गये हैं। इससे पहले, आज बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने फिर से पीएम से मुलाकात की और नई सरकार में शामिल होने वाले एमपी के नामों पर आखिरी मुहर लगाई।

शिवसेना, जनता दल- यूनाइटेड -जेडीयू, अपना दल, लोक जनशक्ति पार्टी -एलजेपी, शिरोमणि अकाली दल और असम गण परिषद से एक-एक मंत्री होने की चर्चा है।

बीजेपी की सोची-समझी योजना दिखती है कि नये मंत्रिमंडल में शामिल करने के जो श्रेणी तय किये गये हैं, उसमें MP की योग्यता, पहले मंत्री के रूप में काम कर चुके बड़े और तपे नेताओं के अनुभव का फायदा उठाना और जिन्होंने पिछली मंत्रिमंडल में अच्छा प्रदर्शन न किया हो, उनके विभागों में फेरबदल
और नए चेहरों के साथ ही समूचे भारत का रिप्रजेंटेशन दिखे, इस बात पर भी गौर किया गया होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.