Ultimate magazine theme for WordPress.

शरीर के साथ साथ दिमाग के लिए भी हानिकारक हैं अपर्याप्त नींद

0

अधूरी नींद न केवल शरीर के लिए हानिकारक है बल्कि दिमाग के लिए भी उतना ही खतरनाक हैं. जिस तरह शरीर की थकान दूर करने के लिए पर्याप्त नींद की आवश्यकता होती है ठीक उसी तरह दिमाग को सुचारू रूप से प्रयोग करने के लिए नींद पूरी होनी ज़रूरी है.

अमेरिका की यूनिवर्सिटी ऑफ एरिजोना के दी रैमसे ने कहा कि कॉलेज जाने वाले छात्रों पर अधूरी नींद से पड़ने वाला असर वाकई चौंकाने वाला हैं. अधूरी नींद के साथ गुज़री हर रात दिमागी सेहत पर बुरा प्रभाव डालती हैं. इस रिसर्च के अनुसार अपर्याप्त नींद नहीं लेने वाले छात्र व एथलीट में चिंता के साथ साथ खुद को नुकसान पहुंचाने और खुदकशी करने जैसे विचार पैदा हो सकते हैं.

शोधकर्ताओं के मुताबिक अपर्याप्त नींद होने से छात्रों की पढाई पर भी प्रभाव पड़ता हैं. इसीलिए छात्रों को चाहिए कि वह पूरी नींद लें.

यूनिवर्सिटी ने अपने इस अध्ययन में 1 लाख 10 हजार 496 छात्रों को शामिल किया था.जिसमें से 462 बच्चे एथलीट थे. इस रिसर्च में पाया गया कि अपर्याप्त नींद से मूड खराब होने की आशंका 21 फीसदी, निराशा व गुस्से की आशंका 24 फीसदी, चिंता करने व खुद को नुकसान पहुंचाने की आशंका 25 फीसदी और खुदकुशी के विचार आने की आशंका 28 फीसदी तक बढ़ जाती है.

आखिरकार पर्याप्त नींद क्यों है आवश्यक

नींद पूरी होना अच्छे स्वास्थय व अन्य बीमारियों से बचें रहने के लिए बहुत जरूरी है क्योंकि आज के समय में नौकरी और अन्य तरह की भागदौड़ वाली जिदंगी में लोगों के पास सोने का समय बहुत कम रहता है. लोग देर रात तक काम करते हैं तथा सुबह जल्दी उठकर स्कूल, कॉलेज या ऑफिस के लिए निकल जाते है. ऐसे में नींद पूरी ना होना लाजिमी हैै, इसलिए सभी को पूरी नींद लेनी जरूरी है. ताकि वह बडे पैमाने पर होने वाली बीमारियों से बचें रहें.

नींद पूरी न होने के नुकसान

नींद पूरी नहीं होने की वजह से डाॅक्टरों के अनुसार इसके कुछ नुकसान हैं जैसा कि, डॉक्टर गौरव गुप्ता का कहना है कि यदि आप पर्याप्त मात्रा में नींद नहीं लेते हैं तो आपको कई तरह की बिमारियों का सामना करना पड़ सकता हैं. नींद पूरी न होने से सेहत पर बुरा असर पड़ता है. उन्होंने बताया कि अगर पर्याप्त मात्रा में नींद नहीं लेने पर आपकी दिमागी क्षमता भी कम हो जाती है.

इसके अलावा डॉक्टर राजीव रंजन का कहना है कि नींद पूरी ना होने से शरीर के हार्मोन असंतुलित हो जाते हैं. जिसकी वजह से व्यक्ति को हाई कैलोरी फूड खाने का मन करता है और असाधारण खाना खाने से स्वास्थ्य तो खराब होता ही है, साथ ही वजन भी बढ़ता है. उन्होंने बताया कि कम नींद की वजह से हार्ट अटैक , हाई ब्लड प्रेशर जैसी बिमारियों की संभावना बढ़ जाती है.

नींद की कमी से धुंधला दिखना, एक ही चीज़ दो दिखना जैसी समस्याएं शुरु हो जाती है. इसके अलावा यदि नींद पूरी नहीं होती है तो स्किन की भी समस्या उत्पन्न हो जाती हैं और लोगों के चेहरें पर बुढ़ापा जल्दी झलकने लगता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.