Ultimate magazine theme for WordPress.

हार के बाद कांग्रेस में इस्तीफे ही इस्तीफे, 13 नेताओं के अब तक आये इस्तीफे

0
  • लोकसभा चुनावों में करारी हार के बाद कमलनाथ, राज बब्बर ने की इस्तीफे की पेशकश
  • पंजाब में पार्टी के प्रभारी सुनील जाखड़ ने गुरदासपुर में हार के बाद राहुल को भेजा इस्तीफा
  • कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी अध्यक्ष के पद से खुद भी कर चुके हैं इस्तीफे की पेशकश
  • झारखंड कांग्रेस प्रभारी अजय कुमार और असम के रिपुन बोरा ने भी भेजा इस्तीफा

नयी दिल्ली। लोकसभा चुनावों में कांग्रेस की जबरदस्त हार के तुरंत बाद से कांग्रेस में अब तक कई इस्तीफे की पेशकश की जा चुकी है, उधर, लोकसभा चुनाव में बीजेपी के हाथों मिली जबरदस्त हार के बाद से कांग्रेस में हो चुकीं कई बैठकों में मंथन पर मंथन जारी हैं। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी स्वयं भी इस्तीफे की बात कर चुके हैं। असम, झारखंड, पंजाब सहित कई प्रदेशों के 13 नेताओं ने निराशाजनक प्रदर्शन के बाद अपने इस्तीफे राहुल गांधी को भेज चुके हैं।

सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने इस्तीफे की पेशकश की, लेकिन अब कई राज्य प्रदेश प्रभारी इस्तीफे के ऑफर कर चुके हैं। सूरत यह है कि असम से लेकर पंजाब और एमपी से लेकर राजस्थान तक के बड़े नेता पद से इस्तीफा देने की बात कर चुके हैं। कई प्रदेशों के 13 वरिष्ठ नेताओं ने अब तक अपने इस्तीफे कांग्रेस अध्यक्ष को भेज चुके हैं। दूसरी तरफ, राहुल को लेकर कई अटकलें चल रही हैं। हालांकि खुद राहुल के इस्तीफे की पेशकश के बाद कांग्रेस ने अभी चुप्पी साध रखी है, लेकिन कई रिपोर्टें आयी हैं, जिनके अनुसार अब भी राहुल अपने इस्तीफे पर अड़े दिख रहे हैं। यहां तक कहा जा रहा है कि राहुल गांधी ने कांग्रेस के दो वरिष्ठ नेताओं से मिलकर अपना ऑप्शन खोजने तक को कहा हुआ है।

कांग्रेस अध्यक्ष की तर्ज पर चलते हुए अब तक 13 बड़े कांग्रेसी नेताओं ने इस्तीफा देने की पेशकश की है। उधर, महाराष्ट्र के पार्टी प्रभारी अशोक चव्हाण ने लोकसभा चुनाव नतीजों के दूसरे ही दिन इस्तीफा देने का मन बना लिया था। झारखंड कांग्रेस चीफ अजय कुमार, पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष सुनील जाखड़ और असम कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा ने सोमवार को अपने इस्तीफे पार्टी अध्यक्ष को भेज दिये हैं। जाखड़ ने गुरदासपुर उपचुनाव जीता था, लेकिन इस दफा वे सनी देओल के हाथों हार चुके हैं। इससे पहले राज बब्बर और कमलनाथ ने भी नैतिक जिम्मेदारी की बात कहते हुए इस्तीफे देने की बात कह चुके थे।

झारखंड कांग्रेस इकाई प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार और असम कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रिपुन बोरा ने भी इस बुरे प्रदर्शन के बाद अपने इस्तीफे कांग्रेस अध्यक्ष को भेज चुके हैं। इसके अलावा, कई दूसरे क्षेत्रों से पार्टी के विभिन्न पदों से कांग्रेस नेताओं ने भी अपने निराशाजनक प्रदर्शन के चलते इस्तीफे दिये हैं। यूपी कांग्रेस प्रमुख राज बब्बर, ओडिशा कांग्रेस अध्यक्ष निरंजन पटनायक और महाराष्ट्र कांग्रेस चीफ अशोक चव्हाण भी इस्तीफे की पेशकश कर चुके हैं।

करारी शिकस्त के बाद कांग्रेस के लिए अब अस्तित्व की लड़ाई बची है। ऐसे में पार्टी के कई वरिष्ठ नेताओं ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के सी वेणुगोपाल और अहमद पटेल ने आज राहुल गांधी से मुलाकात की। मीडिया की ख़बरों के अनुसार, जल्द ही कांग्रेस अध्यक्ष राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत के साथ ही बैठक कर सकते हैं। विधानसभा चुनावों में जीत के बाद इस बार कांग्रेस को प्रदेश से एक भी सीट नहीं मिल पायी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.