Ultimate magazine theme for WordPress.

10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं को हर महीने देने होंगे टेस्ट

0

रांची: राज्य में दसवीं (मैट्रिक) और 12वीं (इंटरमीडिएट) के छात्र-छात्राओं का हर महीने टेस्ट होगा। इसके लिए सिलेबस का बंटवारा महीने के हिसाब से किया जायेगा और इसी आधार पर 10वीं और 12वीं के छात्र-छात्राओं का आंकलन होगा।

इसके लिए स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग ने झारखंड एकेडमिक कौंसिल (JAC) को निर्देश दे दिया है. 10वीं और 12वीं कक्षा के सिलेबस को झारखंड एकेडमिक कौंसिल ही आठ महीने में बांटेगा. इसी आधार पर स्कूलों को क्वेश्चन दिये जायेंगे. इसका मूल्यांकन और नंबर भी स्कूल स्तर पर दिये जायेंगे.

आपको बता दें कि हर महीने होने वाले टेस्ट के मार्क्स मैट्रिक और इंटरमीडिएट के इंटरनल असेस्टमेंट से जुड़ेंगे. छात्र-छात्राओं को मैट्रिक में हर सब्जेक्ट के 20 मार्क्स और इंटरमीडिएट में 30 मार्क्स आंतरिक मूल्यांकन के लिए इस साल से मिलने शुरू हुए हैं।

करीब1300 शिक्षक राज्य के प्लस टू स्कूलों को मिले हैं. सभी टीचरों को स्कूल भी आवंटित किये जा चुके हैं. वहीं, हाई स्कूलों में शिक्षकों का आवंटन जून महीने से शुरू होगा. लोकसभा चुनाव आचार संहिता की वजह से हाई स्कूल के चुने गए टीचरों की आखिरी काउंसिलिंग पूरी नहीं हो सकी है. जिलों में इसकी शुरुआत और शिक्षकों की पदस्थापना की प्रकिर्या अगले महीने शुरू की जाएगी.

Leave A Reply

Your email address will not be published.