Ultimate magazine theme for WordPress.

प्रयागराज के सरकार द्वारा संचालित गौशाला में बिजली गिरने से 35 गायों की मौत

0

प्रयागराज के बहादुरपुर इलाके में सरकार द्वारा संचालित अस्थायी गौशाला में भारी बारिश के दौरान बिजली गिरने से कुल 35 गायों की मौत हो गई.बताया गया है कि, शवों को शव परीक्षण के बाद दफनाया गया.

जिला मजिस्ट्रेट, प्रयागराज, भानु चंद गोस्वामी के नेतृत्व में एक टीम ने घटनास्थल का दौरा किया और दूसरे प्रभावित जानवरों की जांच के लिए पशु चिकित्सकों को भी बुलाया गया.

मुख्य विकास अधिकारी, प्रयागराज, अरविंद सिंह ने बताया कि गाय आश्रय में 344 जानवर थे. “हमें आश्रय के कार्यवाहक ने बताया कि गुरुवार की सुबह बिजली गिरने से 22 जानवरों की जान चली गयी. पशु चिकित्सकों के साथ अधिकारियों की एक टीम मौके पर पहुंची. इलाज के दौरान, 13 अन्य जानवरों की कुछ घंटे बाद मौत हो गई. ”

सिंह ने कहा, “हमने बाकी जानवरों को नज़दीकी गाय आश्रयों में शिफ्ट कर दिया है.”

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी, प्रयागराज, डॉ.चंदन सिंह ने कहा, “जानवरों की मौत की ऑटोप्सी रिपोर्ट में सामने आया है कि बिजली गिरने के कारण मौत हुई है.”

एक समाचार संस्थान के मुताबिक, कन्नौज में पिछले महीने एक गौ आश्रय गृह में पांच जानवरों की मौत हो गई और कई बीमार हो गए. लोगों ने आश्रय गृह के बाहर धरना भी दिया था.

वहीँ कानपुर देहात में, इस साल अप्रैल में एक अस्थायी गाय आश्रय में सात गायों और बछड़ों की मौत हो गई और पांच अन्य जानवर बीमार पड़ गए.

राज्य सरकार के निर्देशों के बाद, राज्य भर में 4,000 से अधिक अस्थायी गौ आश्रम खोले गए. इन अस्थायी आश्रयों में लगभग 2.25 लाख गायें रहते हैं. सरकार ने जिला अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया कि गौशालाएं आत्मनिर्भर हैं और उनकी रक्षा के लिए पशुओं को सभी सुविधाएं दी जानी चाहिए.

ऐसा नहीं है कि गायों का रख रखाव सिर्फ उत्तर प्रदेश में पुरे हालात से गुज़र रहा है बल्कि झारखंड में भी गायों की हालत अच्छी नहीं है. झारखंड के राजभवन और मुख्यमंत्री आवास की गायों के लिए चारे की कमी हो गयी हैं और गायों को सही ढंग से खाना नहीं मिल पा रहा है. इसके पीछे की वजह ये है कि गायों के आहार के लिए कोई धनराशि आवंटित नहीं की गई है, जिसकी वजह से आपूर्तिकर्ता ने भुगतान न किए जाने के चलते अब चारा देने में असमर्थता जताई है.

यह भी पढ़ें: झारखंड: राजभवन और मुख्यमंत्री आवास की गायों को नहीं मिल रहा खाना, बीमार हो रही है गायें

Leave A Reply

Your email address will not be published.