Ultimate magazine theme for WordPress.

AAP सरकार ने गैरकानूनी तरीके से दिल्ली के लोगों से पेंशन फंड के नाम पर 7401 करोड़ वसूले हैं: शीला दीक्षित

0

दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात की. इस मुलाकात में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष शीला दीक्षित ने दिल्ली के मुख्यमंत्री से मांग की है कि AAP सरकार अगले 6 महीने तक दिल्ली के बिजली उपभोक्ताओं से बिजली बिल ना वसूले.

शीला दीक्षित ने कहा है कि राज्य सरकार ने गैरकानूनी तरीके से दिल्ली के लोगों से पेंशन फंड के नाम पर 7401 करोड़ वसूले हैं और बिजली वितरण कंपनियों को फायदा पहुंचाया है.

वहीँ दिल्ली सरकार का दावा है कि दिल्ली में कांग्रेस सरकार के मुकाबले पहले ही सस्ती बिजली दी जा रही है. दिल्ली की ऊर्जा मंत्री सत्येंद्र जैन ने दावा किया कि कांग्रेस के शासनकाल में जिस तरह से बिजली के दाम बढ़ रहे थे वैसे ही आज बढ़ते रहते तो बिजली 5 गुना तक महंगी होती.

बिजली बिल वो मुद्दा है जिसपर अरविंद केजरीवाल ने 2012 में अपनी राजनीति की गाडी स्टार्ट की थी. गौरतलब है कि 2013 में जब बिजली बिल के मुद्दे पर अरविंद केजरीवाल ने अनशन किया था तब आम आदमी पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं ने दिल्ली के लोगों से एक फॉर्म भरवाया था जिसमें यह कहा गया था की बढे हुए बिजली बिल गलत हैं या तो दिल्ली सरकार बिजली सस्ती करे वरना वो बिजली का बिल नहीं चुकाएंगे.

आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता मनीष सिसोदिया जब ऐसे लाखों फॉर्म भरवा कर तत्कालीन मुख्यमंत्री शीला दीक्षित के घर पहुंचे थे तो शीला दीक्षित से उनकी मुलाकात नहीं हुई थी. मनीष सिसौदिया के मुताबिक उनको बताया गया कि मुख्यमंत्री शीला दीक्षित सो रही हैं. लेकिन आज नज़ारा बिलकुल उल्टा है, अब देखना ये होगा कि शीला दीक्षित की इस मांग पर आम आदमी पार्टी क्या रुख अपनाती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.