Ultimate magazine theme for WordPress.

अभिनेता अजय देवगन के पिता वीरू देवगन का निधन, जानिए वीरू कि अनसुनी कहानियां

0

अभिनेता अजय देवगन के पिता वीरू देवगन का सोमवार को मुंबई में निधन हो गया. इंडस्ट्री में वीरू की गिनती दिग्गज एक्शन डायरेक्टर के रूप में होती थी. उन्हें सूर्या अस्पताल, सांताक्रूज़, मुंबई में भर्ती कराया गया था. उनका अंतिम संस्कार सोमवार शाम 6 बजे विले पार्ले श्मशान में होगा.

वीरू ने लाल बादशाह और इश्क जैसी 80 फिल्मों में काम किया था।. उन्होंने 1999 में हिंदुस्तान की कसम का भी निर्देशन किया, जिसमें अमिताभ बच्चन, अजय और मनीषा कोईराला ने अभिनय किया.

विक्की कौशल के पिता और स्टंट निर्देशक शाम कौशल ने वीरू देवगन की मौत पर ट्वीट करते हुए दुख व्यक्त किया.

  • आईये जानते हैं वीरू देवगन के बारे में कुछ रोचक बातें.
  1. वीरू देवगन 1999 में बॉलीवुड की फिल्म हिंदुस्तान की कसम नाम को डायरेक्ट किया था. एक निर्देशक के रूप में यह उनकी पहली फिल्म थी. इस फिल्म में अभिनेता के रोल में उनके बेटे अजय देवगन, अमिताभ बच्चन और अभिनेत्री के तौर पर मनीषा कोइराला ने काम किया था.

  2. वीरू देवगन जब पहली बार मुंबई (तब बॉम्बे) आये थे तो उनके पॉकेट में सिर्फ चार रुपये ही थे.यह बात उनके बेटे अजय देवगन ने एक बात-चीत के दौरान बताई थी.

  3. बॉम्बे में गुज़र-बसर करने के लिए वीरू टैक्सी साफ़ किया करते थे और उसी में रहा भी करते थे.

  4. अजय देवगन के पिता वीरू देवगन के पास शुरूआती दिनों में पैसे नहीं हुआ करते थे. एक बार तो वीरू को आठ दिनों तक भूखे रहना पड़ा था. यह बात अजय देवगन ने अपने एक इंटरव्यू में कही थी.

  5. वीरू ने कई फिल्मो में बॉलीवुड सितारों के जगह स्टंट भी किया है. वीरू ने दिलीप कुमार, विनोद खन्ना, राजेश खन्ना, जीतेन्द्र और कई अभिनेताओं के जगह स्टंट किया है.

  6. वीरू ने बॉलीवुड के 80 फिल्मों में स्टंट निर्देशक के रूप में काम किया है. इसमें सबसे चर्चित उस सीन को माना जाता है जब अपनी पहली फिल्म फूल और कांटे में अजय देवगन दो मोटर साइकिल पर खड़े हो कर एंट्री करते हैं.

  7. स्टंट मैन की ज़िन्दगी बिना चोट और दर्द के कैसे गुज़र सकती है. अजय देवगन ने एक बार बताया था कि उनके सर में 50 टांके लगे हुए हैं और उनके शरीर कि सारी हड्डियां टूटी हुई हैं. साथ हीं उन्होंने कहा कि मेरे लिए मेरा सिंघम कोई और नहीं बल्कि मेरे पिता हैं.

  8. पेट में लगी आग को बुझाने और बॉम्बे शहर में गुज़ारा करने के लिए वो स्ट्रीट फाइटर के तौर पर काम करने लगे. फिर एक दिन बॉलीवुड अभिनेता रवि खन्ना की नज़र गुरु पे पड़ी और रवि ने गुरु से पूछा कि क्या वो स्टंट निर्देशक बनना पसंद करेंगे. उस दिन के बाद से फिर वीरू ने पीछे मुड़ कर नहीं देखा और बॉलीवुड के सबसे बड़े स्टंट डायरेक्टर बन कर उभरे.

 

कुछ साल पहले अपने पिता के बारे में बात करते हुए, अजय ने कहा था कि वह उनका सच्चा सिंघम है। “मेरे जीवन में सिंघम केवल मेरे पिता हो सकते हैं। क्योंकि वह एक आदमी है जो उस समय में `4 के साथ बॉम्बे आया था, अपनी जेब में कुछ बनना चाहता था, संघर्षरत था, धोया और टैक्सी में रहता था इसलिए वह यहाँ रह सकता था, कई बार आठ दिनों तक खाना नहीं खाया, काम किया। इतनी मेहनत से, वहाँ से एक सड़क सेनानी बन गया जब तक कि श्रीमान खन्ना ने उसे एक दिन यह पूछते हुए देखा कि क्या वह एक लड़ाई निर्देशक बन जाएगा। वहां से, भारत के सबसे बड़े एक्शन डायरेक्टर बनने के लिए उनकी कहीं से भी वृद्धि उल्लेखनीय है।

उन्होंने कहा, “मैंने उन्हें इतना सम्मान देते हुए देखा है कि कुछ सबसे बड़े कलाकार उनके साथ काम करना चाहते हैं। जब मैं पैदा हुआ था, तब तक उसके पास पर्याप्त पैसा था। एक बच्चे के रूप में और एक एक्शन डायरेक्टर के बेटे होने के नाते, मेरे पास आज भी वही जीवनशैली है, जिसमें मर्सिडीज का मालिकाना हक है। उसके सिर में 50 टांके लगे हैं और उसके शरीर की हर हड्डी टूट गई है। इसलिए मेरा सिंघम कोई और नहीं हो सकता। “

Leave A Reply

Your email address will not be published.