Ultimate magazine theme for WordPress.

इलाहबाद हाई कोर्ट के जज रंगनाथ पांडे ने PM मोदी को लिखी चिट्ठी, जजों की नियुक्ति पर उठाए सवाल

0

इलाहाबाद हाई कोर्ट के जज और पूर्व प्रमुख सचिव न्याय रंगनाथ पांडेय ने हाई कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट में जजों की नियुक्तियों पर सवाल उठाए हैं और गंभीर आरोप लगाए हैं. जस्टिस रंगनाथ पांडेय ने PM नरेंद्र मोदी को जजों की नियुक्ति करने के सम्बन्ध में चिट्ठी लिखी हैं. न्यायधीश रंगनाथ पांडेय ने लिखा है कि जजों की नियुक्ति का कोई निश्चित पैमाना नहीं है. परिवारवाद और जातिवाद पर जजों की नियुक्ति हो रही है.

इसके अलावा रंगनाथ पांडेय ने पत्र में लिखा है कि भारतीय संविधान भारत को एक लोकतांत्रिक राष्ट्र घोषित करता है और इसके तीन पहलू में से एक सबसे अधिक महत्वपूर्ण न्यायपालिका (उच्च न्यायालय तथा सर्वोच्च न्यायालय) दुर्भाग्यवश वंशवाद व जातिवाद से बुरी तरह से ग्रस्त है, यहां न्यायधीशों के परिवार का सदस्य होना ही अगला न्यायधीश होना सुनिश्चित करता है.

राजनीतिक कार्यकर्ता का मूल्यांकन उसके कार्य के आधार पर चुनावों में जनता के द्वारा किया जाता है. प्रशासनिक अधिकारी को सेवा में आने के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की कसौटी पर खरा उतरना होता है. मैं खुद बहुत ही साधारण बैकग्राउंड से अपनी मेहनत और निष्ठा के आधार पर प्रतियोगी परीक्षा में पास होकर तथा चुनकर न्यायाधीश और अब उच्च न्यायालय का न्यायाधीश नियुक्त हुआ हूं.

इसलिए आपसे अनुरोध करता हूं कि उपरोक्त विषय पर विचार करते हुए आवश्यकता अनुसार न्याय संगत तथा कठोर निर्णय लेकर न्यायपालिका की गरिमा को पुनर्स्थापित करने का प्रयास करेंगे.

जिससे किसी दिन हम यह सुनकर संतुष्ट होंगे कि एक साधारण पृष्ठभूमि से आया हुआ व्यक्ति अपनी योग्यता, परिश्रम और निष्ठा के कारण भारत का मुख्य न्यायाधीश बन पाया.

Leave A Reply

Your email address will not be published.