Ultimate magazine theme for WordPress.

पी चिदंबरम के अलावा जानिए किस किस ने खाई है जेल की हवा

0

बुधवार देर रात पी चिदंबरम को गिरफ्तार कर लिया गया. जिसके बाद CBI ने चिंदबरम के साथ पूछताछ जारी कर रखी है. पी चिंदबरम को INX मीडिया संबंधित भ्रष्टाचार मामले में गिरफ्तार किया है. आपको पी चिंदबरम ऐसे पहले नेता नहीं जिन्हें हिरासत में लिया गया है. पी चिंदबरम से पहले भी कई ऐसे नेता है जो जेल की हवा खा चुके हैं.

आइये आपको बताते हैं उन नेताओं के बारे में कि किस नेता को किस जुर्म के आधार पर हिरासत में लिया गया था.

 

लालू प्रसाद यादव-

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव अभी चारा घोटाले में जेल काट रहे हैं. लालू यादव चारा घोटाले के दो मामलों में दोषी ठहराए जा चुके हैं, जबकि अभी कुछ मामलों की सुनवाई चल रही है. चारा घोटाले में पहले भी लालू यादव जेल में रह चुके हैं. चारा घोटाले में दोषी ठहराए जाने के बाद लालू प्रसाद यादव की लोकसभा सदस्यता भी उनसे ली छिन गई थी.

जगन्नाथ मिश्र-

लालू यादव के अलावा बिहार के तीन बार मुख्यमंत्री रहे जगन्नाथ मिश्र को भी चारा घोटाले में सजा हुई थी. जगन्नाथ मिश्र पर दुमका और डोरंडा निधि से धोखाधड़ी से रूपए निकालने का आरोप था. इसके अलावा CBI कोर्ट ने उन्हें चारा घोटाले में दोषी ठहराया था. जिसके बाद उन्हें चार साल की जेल की सजा सुनाई थी.

रशीद मसूद-

UP के बड़े नेताओं में से एक रशीद मसूद भी भ्रष्टाचार के मामले में जेल की हवा खा चुके हैं. रशीद मसूद को त्रिपुरा के मेडिकल कॉलेजों में दाखिले के लिए MBBS सीटों पर धोखाधड़ी से एडमिशन दिलाने के लिए दोषी ठहराया गया था.

सुखराम-

हिमाचल प्रदेश के नेता सुखराम भी भ्रष्टाचार के मामले में जेल में रह चुके हैं. सुखराम ने अवैध टेलीकॉम कॉन्ट्रेक्ट के लिए रकम ली थी. जिसके बाद CBI ने उनके घर से 3.6 करोड़ रुपए जब्त किए थे और उसके 15 साल बाद उन्हें दोषी ठहराया था.

जयललिता-

दक्षिण के बड़े नेताओं में मशहूर और तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री रही जयललिता भी आय से अधिक संपत्ति होने के मामले जेल गई थी. जिसके उपरांत जयललिता को चार साल की कैद और 100 करोड़ रूपए जुर्माने की सजा सुनाई गई थी.

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.