Ultimate magazine theme for WordPress.

भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा क्षतिग्रस्त होने पर रांची बंद, 2000 से अधिक पुलिस बल तैनात

0

कोकर स्थित भगवान बिरसा मुंडा समाधि स्थल पर बनी भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा तोड़े जाने पर आदिवासी समुदाय से जुड़े संगठनों ने विरोध के तौर पर शनिवार को रांची बंद का आह्वान किया. लेकिन झारखंड कि राजधानी रांची पर इस बंदी का खासा असर नज़र नहीं आया.

रोज़ की तरह ही दुकाने सामान्य रूप से खुलीं, सड़कों पर गाड़ियों की आवाजाही भी रोज़ की तरह ही रही लेकिन बाकि दिनों के मुक़ाबले लोग कम नज़र आ रहे हैं. हालांकि, पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये हैं, ताकि कोई शहर में उपद्रव न फैले.

आपको बता दें कि पिछले दिनों कोकर स्थित बिरसा मुंडा समाधि स्थल पर बनी भगवान बिरसा मुंडा की प्रतिमा को नुकसान पहुंचा था. इस बात की खबर तब हुई, जब आजसू के कोटे से मंत्री बने रामचंद्र सहिस राजभवन में शपथ ग्रहण करने के बाद बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि देने पहुंचे थे. तब उन्हें बताया गया कि भगवान बिरसा का बायां हाथ टूट गया है. उस वक़्त रामचंद्र सहिस बिरसा मुंडा को श्रद्धांजलि दिये बगैर लौटना पड़ा.

रांची बंद को लेकर पुलिस हाई अलर्ट पर है. शुक्रवार देर रात ही रांची SSP ने सभी थानेदारों और DSP की बैठक बुलाकर शहर में शांति व्यवस्था बनाए रखने की रणनीति बना ली है. बन्द समर्थकों के सड़क पर दिखते ही गिरफ्तार करने का निर्देश दिया गया है.

बंद के कारण शहर में कोई उपद्रव या हिंसा न भड़के इसके लिए पूरे शहर में 2000 से अधिक पुलिस बलों की तैनाती की गई है. इसमें रांची जिला बल के अलावा चार रैफ की, जैप व IRB के जवानों की तैनाती की गयी है. सभी थानों में क्विक रिस्पांस टीम (QRT) प्रतिनियुक्त किए गए हैं. जबकि DC की ओर से करीब 100 मजिस्ट्रेटों की प्रतिनियुक्ति की गई है. इस बीच बंद समर्थकों ने कोकर चौंक के समीप बीच सड़क पर आगजनी भी की.

शुक्रवार शाम निकाला था मशाला जुलूस

आपको बता दें कि, शुक्रवार शाम अलबर्ट एक्का चाैक जो कि फिरायालाल चौक से भी जाना जाता है, पर मशाल जुलूस निकाला गया. आदिवासी नेताओं ने कहा कि यह समाज का अपमान है. उधर, क्षतिग्रस्त प्रतिमा काे ठीक कर दिया गया है. अब यहां CCTV भी लगाए जाएंगे.

भगवान बिरसा मुंडा समाधि स्थल में लगी उनकी प्रतिमा को असामाजिक तत्वों द्वारा क्षतिग्रस्त किए जाने के बाद नगर निगम नींद से जाएगी है. प्रतिमा का एक हाथ टूटने की सूचना मिलने पर अपर नगर आयुक्त गिरिजा शंकर प्रसाद मौके पर पहुंचे. हालांकि, नगर निगम ने में प्रतिमा की मरम्मत करवायी. साथ ही आश्वासन दिया कि समाधि स्थल का रख-रखाव नगर निगम ही करेगी.

आदिवासी जनपरिषद, केंद्रीय सरना समिति, आदिवासी युवा मोर्चा, सरना प्रार्थना सभा, आदिवासी लोहरा समाज, आदिवासी सेना, आदिवासी छात्र संघ आदि के द्वारा बंद बुलाया था, वहीँ कांग्रेस, JMM, वामदलों ने समर्थन दिया.

इधर, केंद्रीय सरना समिति का एक प्रतिनिधिमंडल लालपुर थाने में आवेदन देकर आराेपियाें के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है. लालपुर क्षेत्र विकास समिति के संरक्षक अभय कुमार सिंह व अध्यक्ष बजरंग वर्मा ने घटना की निंदा की है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.