Ultimate magazine theme for WordPress.

बिहार : सीवर की शटरिंग खोलने गए मजदूर जहरीली गैस की चपेट में आए, 4 की मौत

0

पिछले तीन महीने में सीवर टैंक में दम घुटने से अलग अलग राज्यों में कई मजदूरों की मौत हो चुकी है. अब एक फिर ऐसी खबर सामने आयी है. जहां सीवर में दम घुटने से 4 मजदूरों की मौत हो गयी.

 

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के मधुबन कंती गांव में निर्माणाधीन सीवर में मंगलवार सुबह 4 मजदूरों की मौत हो गई है. जबकि एक की हालत गंभीर बनी हुई है.

 

जानकारी के अनुसार मजदूर सीवर की शटरिंग खोलने के लिए गए थे. इसी दौरान वह जहरीली गैस की चपेट में आ गए.

 

घटनास्थल पर जिलाधिकारी ने प्रशासन को भेजा है. ताकि वह मामले की जांच कर सकें. इसके अलावा मजदूर मृतकों के परिजनों को चार- चार लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा की गयी है.

 

 

बिहार से पहले इन राज्यों में गयी मजदूरों की जान

 

सीवर में जहरीली गैस के फैलने और दम घुटने का यह पहला मामला नहीं है. इससे पहले गुजरात और हरियाणा में भी सीवर की सफाई के वक़्त दम घुटने से मौत की घटनाएं घट चुकी है.

 

गुजरात के दाभोई स्थित दर्शन होटल के बाहर 15 जून को एक सेप्टिक टैंक में दम घुटने से 7 लोगों की जान चली गई, जिसमें तीन होटल कर्मचारी भी शामिल थे.

 

हरियाणा के रोहतक में 27 जून को सफाई कर्मचारी सेप्टिक टैंक को साफ़ करने के लिए टैंक के अंदर गए थे. टैंक में जहरीली गैस लीक हो गई. जिसकी वजह से 3 सफाई कर्मचारी और 1 कर्मचारी जिसका सम्बन्ध लोक स्वास्थ्य विभाग से था. सभी की मौत हो गई.

 

इसके अलावा UP के गाज़ियाबाद जिले के नंदग्राम में 22 अगस्त को सीवर की सफाई के दौरान दम घुटने से 5 लोगों की मौत हो गयी थी.

 

बिहार में गयी मजदूरों की जान के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट रहा है. ट्विटर पर कमेंट कर लोगों का कहना है कि आखिर कब तक इस तरह से मजदूरों की जान जाती रहेगी.

 

 

एक यूजर ने कमेंट कर लिखा कि इसलिए कीजिये विचार, ठीक नहीं नितीश कुमार.

 

 

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.