Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

BJP सांसद राम शंकर कठेरिया के बॉडीगार्ड ने आगरा में टोल प्लाजा कर्मचारियों की पिटाई की और गोली चलायी

0

अभी कुछ ही दिन हुए हैं जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा भाजपा को चेतावनी दी गयी थी कि नेताओं द्वारा किसी भी तरह की हिंसा को बर्दास्त नहीं किया जायेगा. इंदौर के विधायक आकाश विजयवर्गीय द्वारा एक नगर पालिका अधिकारी पर हमला करने के बाद, शनिवार को आगरा में एक मामूली सी बहस के बाद भाजपा सांसद शंकर कठेरिया के बॉडीगार्ड ने कथित तौर पर टोल प्लाजा कर्मचारियों की पिटाई की और हवा में गोली चलाई.

यह हमला टोल प्लाजा के सीसीटीवी कैमरों में कैद हो गया

कठेरिया, जो इटावा से लोकसभा सांसद हैं, टोल प्लाजा के कर्मचारियों ने कहा वो भी मौके पर मौजूद थे. वे दो बार आगरा से सांसद रहे हैं, वह राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के अध्यक्ष भी हैं.

वह दिल्ली से लौट रहे थे और शनिवार को लगभग सुबह 3 बजे आगरा जिले के एत्मादपुर क्षेत्र में रेहान कला में टोल प्लाजा पार कर रहे थे. बताया गया, जब घटना घटी तब उनके साथ उनकी पत्नी भी साथ थी.

टोल प्लाजा के कर्मचारियों ने दावा किया कि कठेरिया के ड्राइवर को एक उचित कतार में रहने को कहा गया ताकि बूम बैरियर किसी भी वाहन पर न गिरे. इतनी सी बात पर सांसद के आदमियों ने नीचे उतर कर उनकी पिटाई कर दी.

वीडियो में साफ नज़र आ रहा है कि सांसद कठेरिया के सुरक्षा कर्मचारियों का एक सदस्य हवा में गोली चला रहा है.

टोल प्लाजा स्टाफ के एक सदस्य अनुपम सिंह ने एत्मादपुर पुलिस स्टेशन में राम शंकर कठेरिया और उनके कर्मचारियों पर हमला करने और इनर रिंग रोड पर रेहान कलां टोल प्लाजा पर गोलीबारी के लिए शिकायत दर्ज कराई है.

यह भी पढ़ें:  गुजरात के BJP विधायक ने महिला को सरेराह लातों से मारा, जानें क्या है पूरा मामला ?

आगरा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) बबलू कुमार ने कहा, “सुसंगत धाराओं के तहत टोल कर्मचारियों द्वारा दर्ज FIR पर मामला दर्ज किया जा रहा है. ” यह पूछे जाने पर कि क्या मामले में कठेरिया का नाम लिया जाएगा, SSP ने कहा कि यह जांच का विषय है और इसमें शामिल लोगों की पहचान CCTV फुटेज के आधार पर की जा रही है और कानून के अनुपालन में दोषियों को गिरफ्तार किया जाएगा.

कठेरिया हमेशा से एक विवादास्पद नेता रहे हैं. आपको बता दें कि, अप्रैल महीने में उत्तर प्रदेश पुलिस ने आम चुनावों के लिए इटावा के पथरा इलाके में एक सार्वजनिक बैठक के दौरान एक पुलिस उप-निरीक्षक के साथ मारपीट करने के आरोप में उनके खिलाफ दो पार्टी विधायकों और 17 अन्य लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.Publicview.In पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.