Ultimate magazine theme for WordPress.

पश्चिम बंगाल के बर्दवान और दुर्गापुर जिलों में मिले बम विस्फोटक

0

लोकसभा चुनाव के समय से पश्चिम बंगाल में जारी बम विस्फोट की घटनाओं में किसी तरह की कोई कमी आती नही दिख रही हैं. बर्दवान जिले के गलसी थाना स्थित शिल्ला गांव में एकबार फिर बम विस्फोट की घटना सामने आयी हैं. जिसमें एक महिला गंभीर रूप से घायल हो गई. पुलिस ने घायल महिला का नाम सुषमा बागदी (45) बताया है. पुलिस ने घटनास्थल से दो ताज़ा बम भी बरामद किए हैं.

जानकारी के अनुसार गांव के तालाब के पास झाड़ी मे बम छुपा कर बम रखा हुआ था. घायल महिला लकड़ी चुनने जंगल मे गयी थी. लकड़ी काटने के दौरान कटारी के साथ बम का संपर्क हुआ और बम फट गया. घायल महिला को पहले पुरषा ब्लॉक स्वास्थ्य केंद्र और बाद में बर्दवान मेडिकल कॉलेज और अस्पताल में इलाज के लिए ले जाया गया. महिला की हालत गंभीर बताई जा रही है. पुलिस मौके पर पहुंच कर स्थिति को सँभालने की कोशिश प्रयास कर रही है.

इसके अलावा बर्दवान के भाटपाड़ा में भी राजनीतिक हिंसा का दौर थम नहीं रहा है. भाटपाड़ा के कांकीनाड़ा इलाके से पुलिस ने 60 बम बरामद किए हैं. पुलिस को सूचना मिली थी कि कांकीनाड़ा साइडिंग के पास बम छुपाकर रखा गया है. घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे और वहां से 60 बमों को बरामद किया. पुलिस ने इस मामले में 8 लोगो को हिरासत में भी लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही हैं.

वहीं, दूसरी तरफ दुर्गापुर ननि के 12 नंबर वार्ड स्थित कण्डेश्वर इलाके से पुलिस ने 2 ड्रम क्रूड बम बरामद किए हैं. बम बरामद की खबर फैलते ही इलाके में सनसनी फैल गयी. बताया जा रहा है कि दुर्गापुर थाना पुलिस को इस बात की सूचना मिली कि कण्डेश्वर इलाके के एक अर्धनिर्मित मकान में बम छुपा कर रखा गया है. वही सूत्रों की माने तो मकान मालिक कहीं घुमने गए हुए थे. वापस आकर देखा तो ड्रम में बम रखा पाया और मकान मालिक ने ड्रम में रखे बम की सूचना पुलिस को दी.

सूचना मिलने के बाद दुर्गापुर थाना पुलिस के साथ ही दमकल का एक इंजन मौके पर पहुंचा तथा सभी बमों को बरामद कर लिया गया. बाद में पुलिस ने घटना की सूचना CID के बम निरोधक दस्ते को दी. CID के बम निरोधक दस्ते ने इन सभी बमों को एक खाली स्थान पर ले जाकर उसमें विस्फोट कर उसे निष्क्रिय किया. अभी तक इस मामले में किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है. पुलिस मामले की जांच कर यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर किसने और किस से उद्देश्य इन बमों को यहां छुपा कर रखा था.

कुछ दिन पहले आमराई इलाके में भी बम बाजी की घटना हुई थी. इसके ठीक एक दिन बाद भी अमराई मोड़ पर दो गुट आपस में टकरा गए थे. घटना को लेकर इलाके में उत्तेजना का माहौल बना हुआ है. ऐसी आशंका जतायी जा रही है कि कहीं यह बम इन दो गुटों में से ही किसी ने न रखा हो.

Leave A Reply

Your email address will not be published.