Ultimate magazine theme for WordPress.

बिहार: ‘चमकी’ बुखार पर विधानसभा सदन में बोले CM नीतीश कुमार, जानिए मुख्य बातें.

0

‘चमकी’ बुखार और 150 से अधिक बच्चों की मौत को लेकर देश भर में बिहार सरकार के विफल स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की चुप्पी भी लोगों को खटक रही थी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार सोमवार को विधानसभा सत्र के पहले दिन सदन में ‘चमकी’ बुखार पर बोले.

मुख्य बातें : –

‘चमकी’ बुखार का कहर कई सालों से बिहार में हो रहा. इसके पीछे की वजह साफ नहीं है, इसलिए हमने साल 2015 में पटना AIIMS में बैठक की, बैठक में बहुत से एक्सपर्ट शामिल थे लेकिन सबकी राय अलग अलग थे. तो हमने कहा था कि सारे एक्सपर्ट की एक जॉइंट कमिटी बने और नए सिरे से इस पर शोध किया जाए.

हमने पहले भी कहा था कि चमकी को लेकर जागरूकता अभियान चलाएंगे और चलाया भी गया इसलिए बीते कुछ सालों कम घटनायें घटी है लेकिन ये नहीं कहा जा सकता कि 1 भी घटना नहीं घटी है. हालाँकि इस बार कुछ ज्यादा ही घटना घटी है.

इस बुखार के चपेट में ज्यादा गरीब परिवार के बच्चे आये हैं.एक बैठक में मैंने उसी वक्त कह दिया था कि इसको लेकर Socio economic survey कराना चाहिए.

हमने जब हॉस्पिटल का दौरा किया तो बच्चों के परिजनों से मुलाकात की

जब हमने देखा की एक बेड पर 2 बच्चे हैं तो स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव है उन्हें मैंने बेड बढ़ाने को कहा.

जब मैंने पहली बार SKMCH का दौरा किया तो मालूम चला की यहाँ इलाज कराने वाले बहुत लोग हैं सुविधाओं की कमी है. इसके लिए हमने बैठक की और सुविधाओं को लेकर चर्चा की.

इस बार जो Socio economic survey का रिपोर्ट आएगा उसके बाद, जो हम लोगों ने जो योजना बनायीं उसके तहत काम करेंगे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.