Ultimate magazine theme for WordPress.

बच्चा चोरी की बढ़ रही वारदात, शक के कारण हिंसा के शिकार हो रहे मासूम लोग

0

गली, मोहल्ले से बच्चा चोरी होने की वारदात लगातार बढ़ती जा रही है. जिस वजह से लोगों ने अपने घर से बच्चों को बाहर भेजना बंद कर दिया है. बच्चें चोरी होने की बढ़ रही वारदातों की के कारण मासूम लोग हिंसा का शिकार हुए जा रहे है.

मुख्य बातें

लगातार बढ़ रही है बच्चा चोरी की वारदात
आशंका होने पर बेकसूर लोगों के साथ हिंसा करने लगे हैं लोग
बच्चा चोरी होने के डर की वजह से घर से लोगों ने अपने बच्चों को भेजना किया बंद

आशंका होने पर शुरू कर देते हैं हिंसा

 

दरअसल, पिछले कुछ समय से बच्चा चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया जा रहा है. हालांकि, पुलिस ने कई बच्चा चोर गैंग को पकड़ा है. लेकिन बच्चा चोरी की घटनाएं इतनी ज्यादा बढ़ गयी है कि ऐसे में लोग किसी पर भी भरोसा नहीं करते हैं और थोड़ा सी आशंका होने पर ही उस व्यक्ति के साथ हिंसा पर उतर आते हैं.

 

ऐसी कई घटनाएं सामने आयी हैं, जिनसे पता चला कि लोगों की भीड़ किस तरह से बेकसूर महिलाओं और पुरुषों के साथ हिंसा कर रही है. जैसेकि

 

UP के जौनपुर जिले के शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के गांव की एक महिला करीब रात 9 बजे पास के गांव में चली गई थी. जहां कुछ दबंगों ने उस पर बच्चा चोरी करने का आरोप लगाकर उसकी पिटाई कर दी.

 

इसी तरह झारखंड के गिरिडीह जिले में एक महिला अपने बच्चे के साथ पैसे निकालने के लिए बैंक गई और बच्चे को बाहर खड़ा कर पैसे निकालने के लिए बैंक के अंदर चली गई. मां की अनुपस्थिति के कारण बच्चा रोने लगा.

 

जिसको देखकर एक महिला रोते हुए बच्चे के पास आई और उसे चुप कराने लगी और उसने बच्चे के साथ खेलना शुरू कर दिया. तभी बच्चे की मां बैंक से बाहर आयी और महिला पर बच्चा चोरी का आरोप लगाने लगी. जिसके बाद वहां मौजूद लोगों ने उस महिला को बच्चे के साथ देखकर बेरहमी से उसकी पिटाई कर दी.

ध्यान रखने योग्य बातें

 

इस खबर से Public View का उद्देश्य केवल यही है कि आप अपने बच्चों का ध्यान रखें. वारदात कभी भी किसी के साथ हो सकती है. इसके अलावा एक और ध्यान रखने वाली बात यह है कि बिना सबूत के किसी पर आरोप न लगाए क्यूंकि सामने खड़ा व्यक्ति भी आपकी और हमारी तरह इंसान है और किसी बेकसूर पर हिंसा होने से उसे भी दुःख होता है.

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.