Ultimate magazine theme for WordPress.

निकाह कर कराया धर्मपरिवर्तन, ब्लैकमेल कर किया शारीरिक शोषण, फिर दिया तलाक

0

राजधानी रांची में एक बार फिर धर्मपरिवर्तन का मामला सामने आया है. जहां आरोपी पिछले 6 साल से पीड़ित महिला को ब्लैकमेल कर उसका शारीरिक शोषण कर रहा था. पीड़ित महिला ने अपने साथ हुई आपबीती के बारे में बताया कि किस तरह से आरोपी अबुल कैश ने उसका शारीरिक शोषण किया और उसका धर्मपरिवर्तन कराया.

पीड़िता ने बेड़ों थाना में जाकर आरोपी अबुल कैश के खिलाफ FIR दर्ज़ कराई है. जिसके मुताबिक वर्ष 2013 में अशोक नगर में स्थित उदय भारत नामक संस्था में पीड़िता और उसके सहयोगी सोनू उर्फ अबुल कैश दोनों काम करते थे.

एक दिन पीड़िता की तबीयत ख़राब हो गयी जिसके बाद वह दो दिन अपने ऑफिस नहीं गयी तो सोनू उर्फ अबुल कैश पीड़िता के घर पहुंच गया और पीड़िता का इलाज करवाने के लिए डॉ अनवर साहब के यहां ले गया.

डॉक्टर के पास वापस आने के दौरान आरोपी युवक ने युवती को कोई दवा खिला दी जिससे वह बेहोश हो गई. दो दिनों के बाद जब पीड़िता को होश आया तो उसने देखा कि वह अपने घर में नहीं बल्कि हरमू स्थित आरोपी युवक के घर पर थी.

जिस समय युवती को होश आया उसकी हालत बहुत खराब थी. उसके शरीर पर एक भी कपड़ा नहीं था. वह उठकर जाने में असमर्थ थी. लेकिन फिर भी पीड़िता ने आरोपी अबुल कैश के घर से भागने की कोशिश की, उसी दौरान अबुल कैश ने पीड़िता का रास्ता रोका और उसका अश्लील वीडियो तथा फोटो उसे दिखाया.

जिसके बाद से वह वीडियो को सोशल मीडिया पर अपलोड कर देने की धमकी देता रहा और उसका शारीरिक शोषण करता रहा.

 

आरोपी की इंसानियत यही खत्म नहीं हुई इसके बाद वह पीड़िता को डोरंडा में किसी कारी जान मोहम्मद के यहां ले गया और उससे जबरन निकाह कबूल कराया और कहा कि अब तो मुसलमान हो गई हो तुम्हारा निकाह अबुल कैश के साथ हो गया है.

पीड़िता ने बताया कि आरोपी अबुल कैश उसका असली नाम है इस बात की जानकारी भी उसे नहीं थी. ऑफिस में आरोपी अपने फ़र्ज़ी नाम के साथ काम करता था.

निकाह हो जाने के बाद आरोपी ने 6 साल तक पीड़िता पर बहुत अत्याचार किये. उसे जबरन गोमांस खिलाने के लिए मजबूर किया गया, पीड़िता को अपशब्द कहे जाते थे.

युवती ने बताया कि अबुल कैश उसे दिल्ली लेकर आया था. जहां आरोपी के जान पहचान वालों ने पीड़िता के साथ रेप किया.

बेशर्मी की सारी हद पार कर चुका अबुल कैश ने पीड़िता को अपने साथ रखने से मना कर दिया और उसे 27 जुलाई 2019 को तीन तलाक बोलकर तलाक दे दिया. पुलिस ने पीड़िता की शिकायत दर्ज़ कर कार्यवाई शुरू कर दी है.

पीड़िता का कहना है कि केवल आरोपी अबुल कैश ही नहीं बल्कि उसके घरवालों ने भी पीड़िता के साथ अत्याचार किये. आरोपी की मां भी धर्म के नाम पर अपशब्द बोलती थी.

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.