Ultimate magazine theme for WordPress.

सोमवार को बिल्कुल भी ना करें ये पांच काम

0

भारत में हमेशा से ही धर्म का विशेष महत्व रहा है.यही कारण है कि, विपरीत परिस्थितियों में भी हम अपना संयम बनाये रखते है. यूं तो हर हर दिन का एक विशेष महत्व होता है, लेकिन सोमवार का स्थान विशेष ही है. भगवान भोलेनाथ की कृपा पाने का ये उचित अवसर होता है. मान्यताओं के अनुसार इस दिन भोलेनाथ की पूजा करने पर सभी मनोकामनाएं पूरी होती है। अगर आपको लगता है कि, लाख कोशिशों के बाद भी,घर में समृद्धि नहीं आ रही है तथा परिवार किसी ना किसी उलझनों में फसा हुआ है तो सोमवार को गलती से भी ये पांच काम ना करें –

1-मांस मदिरा का सेवन करने से बचें

सोनवार के दिन मांस मदिरा का सेवन बिलकुल ना करें। हो सके तो शादी ब्याह के कार्य भी ना करें बल्कि इस समय ब्रह्मचर्य के व्रतों के नियमों का पालन करें। ताम्बे -पीतल के बर्तन में खाना ना खाएं। भोलेनाथ को हल्दी का उबटन ना लगाए, इसे अशुभ माना जाता है.

2- वास्तु के अनुसार ही भगवान् शिव के प्रतिमा की स्थापना करें, ध्यान रखें कि, गलत दिशा के चलते आपके ग्रहों की स्तिथि में नकारात्मक प्रभाव पद सकता है.

3-दूध का सेवन ना करें

इस दिन दूध का सेवन बिल्कुल ना करें क्योंकि भगवान् शिव का दूध से ही अभिषेक किया जाता है. ऐसा करने से वात सम्बन्धी दोष का निवारण होता है. इस दिन, दिन के समय नहीं सोना चाहिए तथा बैगन भी नहीं खाना चाहिए। बैगन को अशुभ माना जाता है. इसी के चलते कार्तिक मास में भी बैगन खाने की मनाही है.

4-अगर आपको सांड दिखे तो-

अगर आज के दिन आपको सांड दिखता है तो, उसे भगाये नहीं बल्कि उसे कुछ खाने को दें. सांड भगवान् शिव के नंदी का प्रतीक है तथा भोलेनाथ के परम भक्तों में से एक है. भगवान् शिव कभी नहीं चाहते है कि, उनके भक्त का कोई अपमान करें।

5- भोलेनाथ का जलाभिषेक करें

भगवान् शिव को भोलेनाथ कहा कहा जाता है क्योंकि वे स्वभाव से बड़े ही भोले है. उनको प्रसन्न करने के लिए आपको कुछ ज्यादा करने की ज़रूरत नहीं है, केवल शुद्ध जल से जलाभिषेक करने से भी उनको प्रसन्न किया जा सकता है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.