Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

EVM को लेकर माहौल गरमाया, विपक्षी नेताओं के निशाने पर चुनाव आयोग

0

यूपी समेत देशभर के कुछ राज्यों से ईवीएम बदलने की खबरों से अफवाह के बाद सियासी माहौल काफी गरमाया हुआ है। इधर, सोशल मीडिया में ईवीएम लदे वाहनों के कई वीडियो वायरल भी हुए, जिसके बाद राजनीतिक दलों की तरफ से इस मामले को लेकर रिएक्शन आने शुरू हो चुके हैं। विपक्षी नेता चुनाव आयोग पर जमकर निशाना साध रहे हैं। इस मामले पर आयोग ने इस मामले पर सफाई देते हुए ईवीएम की अदला-बदली संबंधी खबरों को महज अफवाह करार दिया है।

विपक्षी दलों की बैठक आरंभ

लोकसभा चुनाव के परिणामों को लेकर विपक्षी दलों की बैठक दिल्ली में चल रही है। बैठक में वीवीपैट मामले में भी विचार हो रहा है। विपक्षी दलों के नेता इस बैठक के बाद चुनाव आयोग जाएंगे. वे आयोग से अनुरोध करने जा रहे हैं कि वीवीपैट पर्चियों का मिलान supreme court के आदेश के अनुसार किया जाए।

मिलिंद देवड़ा की मांग, सुरक्षा बढ़ाई जाए

मुंबई प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मिलिंद देवड़ा ने आयोग को भेजे पत्र में मतगणना केंद्रों की सुरक्षा बढ़ाने की मांग की। उन्होंने ये भी कहा कि ईवीएम की सुरक्षा के लिए हमने चुनाव आयोग को पत्र भेजा है, ताकि EVM मशीनों में किसी भी छेड़छाड़ की नौबत ही न आने पाये।

नीतीश ने ईवीएम मसले को बोगस बवाल कहा

बिहार के मुख़्यमंत्री नीतीश कुमार ने ईवीएम पर उठे प्रश्नों को बकबास कहा। उन्होंने बताया कि ईवीएम के प्रचलन में आने के बाद चुनाव प्रक्रिया पारदर्शी हो चुकी है। उनका कहना है कि यह ऐसी अनोखी और अचूक तकनीक है जिस पर कई बार उंगली उठाई गयी है और इसका चुनाव आयोग ने स्पष्ट जवाब भी दिया है।

प्रशांत भूषण को ईवीएम स्वैपिंग की आशंका

प्रशांत भूषण ने ईवीएम की हैकिंग का नहीं, बल्कि इसके स्वैपिंग होने की आशंका जताई है। उन्होंने एक ट्वीट में लिखा कि रिजर्व ईवीएम को एक से दूसरे स्थान पर ले जाने के अजीब तरीके हैं, इसीलिए चुनाव आयोग जब मतदान के एक दिन बाद बिना किसी सुरक्षा के इन मशीनों को यहां-वहां ले जाता है, तभी ईवीएम में स्वैपिंग किये जाने की आशंका रहती है।

मनीष सिसोदिया ने कहा, खतरे में लोकतंत्र

अगर ईवीएम को मौजूदा तरीके से ले जाया जायेगा, तो भला इसके छेड़छाड़ से कौन इंकार करना चाहेगा

Leave A Reply

Your email address will not be published.