Ultimate magazine theme for WordPress.

Ganesh Chaturthi 2019 : गणेश चतुर्थी पर जानें पूजा, विधि, मुहूर्त, मंत्र

0

हर वर्ष की तरह इस साल भी गणेश चतुर्थी भाद्रपद मास की शुक्ल चतुर्थी यानि 2 सितंबर 2019 को है. गणपति बप्पा का इंतज़ार करने के बाद गणेश जी इस दिन घर आते हैं. गणेश चतुर्थी को लोग गणपति बप्पा को अपने घर लाकर विराजमान करते है.

 

लेकिन दुःख उस समय होता है जब 10 दिन के बाद गणपति बप्पा का विसर्जन किया जाता है, लेकिन वो कहावत है न कि जायेंगे नहीं तो अगले वर्ष कैसे आएंगे. इसलिए तो कहा जाता है ‘गणपति बप्पा मोरया…..अगले बरस तू जल्दी आ’.

 

गणेश चतुर्थी पर कैसे करें पूजा, क्या है इसकी विधि, मंत्र यह सोचकर आप परेशान न हो क्यूंकि आज हम आपको बताने जा रहे है कि गणेश चतुर्थी पर कैसे पूजा की जाती है तथा इससे जुडी अन्य बातें.

 

गणेश जी की मूर्ति स्थापना विधि

 

गणपति बप्पा की मूर्ति स्थापना करने के लिए जिस जगह आपको स्थापना करनी है, उस जगह को गंगाजल से अच्छे से धो लें.

 

उसके बाद उनके लिए जनेऊ, कपडे, आभूषण, लाल पुष्प, नारियल, रोली, सुपारी, पान, सामग्री पंचामृत, लाल कपड़ा, मोदक, आरती की थाली इन सभी सामग्री को एकत्रित कर ले.

 

फिर जिस जगह स्थापना करनी है वहां पर पहले लकड़ी का पटला रखें, उस पर लाल कपड़ा बिछाएं, गणेश की मूर्ति को पंचामृत से स्नान करवायें. उसके बाद उन्हें जनेऊ, वस्त्र, आभूषण पहनाएं.

 

पूजा विधि

 

मूर्ति स्थापित होने के बाद आरती की थाल सजाकर गणेश जी की करें. आरती करने के बाद उन्हें मोदक का भोग लगाएं, अंत में घर में मौजूद सभी सदस्यों को मोदक प्रसाद के रूप में दें.

 

गणेश चतुर्थी तिथि और शुभ मुहूर्त

 

तिथि : 2 सितंबर 2019

गणेश विसर्जन तिथि : 12 सितंबर 2019

शुभ मुहर्त : दोपहर 11:05 से 01:36 तक

चंद्रमा न देखने का समय : सुबह 8:55 बजे से शाम 9:05 बजे

मंत्र

 

मनोकामना पूर्ण करने के लिए गणेश जी के इस मंत्र का जप करें … ‘ॐ गं गणपतये नमः’

रोजगार की प्राप्ति व आर्थिक वृद्धि के लिए लक्ष्मी विनायक मंत्र का जप करें…’ॐ गं नमः’

 

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.