Ultimate magazine theme for WordPress.

Public Exclusive : भाजपा के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे, इंदौर विधायक आकाश विजयवर्गीय की गुंडागर्दी, निगम अधिकारी को क्रिकेट बैट से पीटा.

0

भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय (वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे) को नगर निगम के कर्मचारी की पिटाई करने के लिए गिरफ्तार किया गया उसके बाद अदालत ले जाया गया.

घटना की पूरी जानकारी

इंदौर 3 से भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय की सरेआम गुंडागर्दी सामने आयी है. बीजेपी विधायक और वरिष्ठ भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय के बेटे आकाश विजयवर्गीय ने इंदौर में क्रिकेट बैट के साथ नगर निगम अधिकारी को सरेआम पिटाई कर दी. अतिक्रमण विरोधी अभियान के लिए नगर पालिका अधिकारियों की एक टीम ने इलाके का दौरा किया था.

यह घटना इंदौर के गंजी कंपाउंड इलाके में हुई है, जहां नगरपालिका के कर्मचारी अतिक्रमण हटाओ अभियान चला रहे थे.

घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है जिसमें यह स्पष्ट रूप से देखा जा सकता है कि आकाश विजयवर्गीय एक क्रिकेट बैट से अधिकारियों की पिट रहे हैं. आकाश के साथ, उनके समर्थकों ने भी नगर पालिका के अधिकारियों से धक्का-मुक्की की.

हालांकि, उस दौरान पुलिस अधिकारी मौजूद थे, जिन्होंने अधिकारियों को बचाने की कोशिश की जबकि विधायक के समर्थकों में ज़रा सा भी प्रशासन का डर नहीं दिखा. वो लगातार अपनी गुंडागर्दी दिखा रहे थे.

विजयवर्गीय ने बताया कि अधिकारी “अवैध रूप से एक इमारत को ध्वस्त कर रहे थे”. “इमारत के कुछ लोग इमारत में रह रहे थे.

“मैंने निगम से संपर्क करने की कोशिश की, उन्होंने मेरी कॉल नहीं ली. “मेरे लिए मतदान करने वाले लोगों के प्रति मेरी जिम्मेदारी है.”

इंदौर नगर निगम के जोनल अधिकारी धीरज बैस ने बताया कि उन्होंने उन्हें इस खतरे को समझने की कोशिश की कि इमारत की हालत बहुत बुरी है.

“यह इमारत बहुत जर्जर अवस्था में है और इसमें रहने वाले लोगों की जान को भारी खतरा है. लेकिन उन्होंने हमारी बात नहीं मानी और क्रिकेट बैट से मेरी पिटाई कर दी.

खबर मिली है कि निगम के लोग एम जी रोड थाना के पास जमा होकर नारेबाजी कर रहे हैं.

हालाँकि हमने आकाश विजयवर्गीय के निजी सलाहकार से बात कि तो उन्होंने हमें बताया कि, निगम अधिकारी महिलाओं के साथ बदसुलूकी कर रहे थे और वो पहले भी ऐसा कर चुके हैं. इसलिए विधायक को गुस्सा आ गया इसलिए उन्होंने ऐसा किया.

जब Public View के संवादाता ने उनसे पूछा कि, अगर निगम अधिकारी बदसुलूकी कर रहे थे तो आप ने प्रशासन से शिकायत करते. खुद प्रशासन बनने कि क्या ज़रुरत थी.

तब भी उनका जवाब वही रहा कि विधायक उनको पहले भी समझा चुके थे, इसलिए विधायक को गुस्सा आ गया और उन्होंने पिट दिया.

हालाँकि खबर मिली है कि, नगर निगम के अधिकारी द्वारा इस मामले में FIR दर्ज़ कराई गयी है.

जब हमारे संवादाता ने विधायक के निजी सहायक से पूछा कि क्या आपलोग की क्या प्रतिक्रिया होगी इस मामले में

तो विधायक के सलाहकार ने बताया कि, हम भी निगम अधिकारी के खिलाफ औरतों से बदसुलूकी करने के मामले में FIR दर्ज कराएँगे.

हम लगातार इस मामले पर उनसे बातचीत कर रहे हैं, इस मामले में पल पल की खबर के लिए जुड़े रहिये PublicView.in से.

Leave A Reply

Your email address will not be published.