Ultimate magazine theme for WordPress.

Bihar: थाने में फांसी से लटकता मिला JDU दलित नेता का शव

0

बिहार के जदयू नेता गणेश रविदास (45) का शव बृहस्पतिवार को देर रात एक थाने के अंदर शौचालय में फंदे से लटकता मिला. घटना के बाद नालंदा जिले के उनके गांव के लोगों हिंसक प्रदर्शन किया.

जिला प्रशासन ने बीते शुक्रवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि दलित नेता की मौत के संबंध में तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित करने के बाद गिरफ्तार किया गया है.

महादलित सेल के प्रखंड प्रमुख गणेश रविदास को एक लड़की के अपहरण के संबंध में पूछताछ के लिए थाने लाया गया था. हालांकि, इस मामले में रविदास नामजद नहीं थे.

शुक्रवार की सुबह नगरनौसा थाना के अंदर आने वाले उनके गांव सैदपुरा में उनकी मौत की खबर पहुंचने के बाद उनके समर्थकों ने थाने में पथराव किया जिससे कुछ पुलिसकर्मी घायल हो गए. इसके बाद भीड़ ने बिहारशरीफ-पटना मुख्य मार्ग को नगरनौसा बाजार में बंद कर दिया. बेकाबू भीड़ को काबू करने के लिए पुलिस को लाठी का सहारा लेना पड़ा.

गांववालों का आरोप है की थाने में उन्हें प्रताड़ित किया गया होगा इस वजह से गणेश ने आत्महत्या कर ली. वहीँ कुछ गांववालों का कहना है कि उन्होंने उनके सिर पर चोट के निशान देखे जिससे पता चलता है कि उन्होंने पुलिस की बर्बरता से परेशान हो कर उन्होंने फांसी लगा ली.

जैसा की हमने ऊपर ज़िक्र किया था, गणेश रविदास के सैदपुरा गांव के एक व्यक्ति ने अपनी 16 वर्षीय बेटी के अपहरण की आशंका जताते हुए 11 जून को प्राथमिकी दर्ज कराई थी. हालांकि इसमें गणेश रविदास नामजद नहीं थे.

एक मीडिया संसथान की रिपोर्ट के अनुसार, एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक गणेश के पुत्र बलराम रविदास ने नगरनौसा थाना प्रभारी कमलेश कुमार, एएसआई बलिंद्र राय, चौकीदार जितेंद्र कुमार, संजय पासवान, ग्रामीण नरेश साव, पवन साव, दयानंद साव और कमलेश कुमार समेत एक अन्य के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई है.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.Publicview.In पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.