Ultimate magazine theme for WordPress.

झारखंड में नशीले पदार्थों का कारोबार बढ़ा, 5 महीने में 145 आरोपी गिरफ्तार

0

झारखंड के अलग अलग जिलों में नशीले पदार्थों का कारोबार लगातार बढ़ता जा रहा है. पुलिस के आंकड़ों से इस बात का पता चला है. आंकड़ों के अनुसार पिछले 5 महीने में नशीले पदार्थ के कारोबार से जुड़े 145 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

पुलिस अधिकारियों द्वारा विभिन्न जिलों से नशीले पदार्थ जैसेकि गांजा, अफीम को बरामद करने के बाद इन आंकड़ों को देखा गया. जिसमें पता चला कि झारखंड में नशीले पदार्थों की संख्या बढ़ गयी है.

आंकड़ों के अनुसार राज्य के विभिन्न जिलों में जनवरी महीनें में 154 एकड़ में लगे अफीम की खेती नष्ट की गयी थी.

जिसके बावजूद पिछले तीन महीनें से लगातार अफीम की खेती बड़े पैमाने पर की जा रही है और अफीम, गांजा जैसे नशीले पदार्थों का कारोबार रुक नहीं रहा है.

पुलिस ने नशीले पदार्थ की सबसे अधिक बरामदगी पलामू, चतरा, दुमका, सरायकेला, रांची, खूंटी जगहों से की गयी है. यहां सबसे ज्यादा गंभीर बात यह है कि चतरा में कई वर्षों से लगातार अफीम की खेती हो रही है.

अफीम के सप्लायर का नेटवर्क इतना बड़ा है कि राज्य में तथा राज्य के बाहर भी तस्करों तक अफीम, गांजा इत्यादि सप्लाई किये जाते है.

झारखंड में बढ़ रहे नशीले पदार्थों के कारोबार पर पुलिस अभी तक प्रभावी तरीके से नियंत्रण नहीं लगा पायी है.
इससे पहले भी पुलिस झारखंड में नशीले पदार्थों का सप्लाई करने वालों को पकड़ चुकी है. लेकिन फिर भी यह कारोबार खत्म होने का नाम ही नहीं ले रहा है.

एक महीनें पहले पुलिस ने 2 रुपए में टॉफी के रैपर में नशीली दवाइयों का धंधा करने वालों के खिलाफ कार्यवाई की थी.

यह भी पढ़े : टॉफी रेपर में आयुर्वेदिक दवा के नाम पर नशीली दवा बेचने वालों पर होगी कार्यवाही

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.