Ultimate magazine theme for WordPress.

झारखंड: अरुण जेटली के निधन पर CM समेत विपक्षी नेताओं ने twitter पर जताया दुःख

0

रांची :   लंबे समय से बीमार चल रहे अरुण जेटली का शनिवार दोपहर को निधन हो गया. अरुण जेटली के निधन पर देश में शोक का माहौल है. हर कोई अरुण जेटली जी को याद कर दुःख व्यक्त रहा है.

 

झारखंड के CM रघुवर दास समेत विपक्ष के नेताओं ने भी ट्वीट कर जेटली के निधन पर दुःख जताया है.

 

CM रघुवर दास ने ट्वीट कर लिखा कि, अरुण जेटली जी के विचार सदैव हमारा मार्गदर्शन करते रहेंगे. उनकी शानदार भाषण शैली पक्ष और विपक्ष दोनों को मुग्ध करने की क्षमता रखती थी. देश के विकास में उनका योगदान सदैव याद किया जाएगा. शत-शत नमन।

 

कैबिनेट मंत्री अर्जुन मुंडा ने भी अरुण जेटली के चले जाने पर जताया दुःख और ट्वीट कर कहा कि, पार्टी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली जी के निधन से भारतीय राजनीति को बहुत बड़ा नुकसान हुआ।वे करोड़ों भारतीयों की पसंदीदा राजनेता थे। वित्त मंत्री के पद पर रहते हुए कई ऐतिहासिक फैसले लिए।इस दुःख की घड़ी में हम सब उनके परिजनों के साथ हैं।भगवान उनकी आत्मा को शांति प्रदान करें।ॐ शान्ति।

कैबिनेट मंत्री अर्जुन मुंडा सहित BJP के इन नेताओं ने ट्वीट कर जताया दुःख

 

 

 

 

 

अरुण जेटली का विनम्र व्यव्हार ने सभी के दिलो पर राज किया इसलिए केवल BJP के ही सदस्यों ने नहीं बल्कि विपक्षियों ने भी उनके नहीं रहने पर दुःख जताया है.

 

JMM के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने ट्वीट कर दुःख प्रकट किया और लिखा कि, पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली जी के निधन पर गहरा दुख हुआ. वह एक उत्कृष्ट राजनेता, प्रशासक, वकील और निष्पक्ष नेता थे. मैं दुख की इस घड़ी में उनके परिवार के सदस्यों के प्रति अपनी संवेदना व्यक्त करता हूं.

 

इसके अलावा कांग्रेस के फ़ुरक़ान अंसारी, सुबोध कांत सहाय और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ने भी ट्वीट कर भावपूर्ण श्रद्धांजलि दी.

 

 

 

ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (AJSU) पार्टी के अध्यक्ष सुदेश महतो ने ट्वीट कर कहा कि, देश के दिग्गज नेताओं में शुमार, कानून, वित्तीय, विधायी कार्यों और खेल जगत के जानकार तथा कुशल वक्ता पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली जी के निधन की खबर सुनकर दुःखी हूं. ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करे. इस दुखद घड़ी में हमसब उनके परिजनों के साथ हैं.

 

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.