Ultimate magazine theme for WordPress.

झारखंड प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष डाॅ. अजय कुमार केंद्रीय बजट 2019 को बताया बोगस

0

5 जुलाई, बजट का दिन. देश भर की निगाहें टेलीविज़न स्क्रीन व मोबाइल पर टिकी हुई थी. सत्तारूढ़ पार्टी की वित्त मंत्री सीतारमण ने संसद में बजट पेश किया, भाजपा नेताओं और कार्यकर्ताओं ने बजट की खूब तारीफ की. वैसे भी अपने अंगूर किसे खट्टे लगते हैं लेकिन विपक्ष को ये अंगूर खट्टे लगें. विपक्ष के तमान नेता अपनी प्रतिकिर्या देने लगे.

जैसे सब विपक्षी नेता प्रतिक्रिया दे रहे थे, एक प्रतिक्रिया झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डाॅ. अजय कुमार की आयी उन्होंने कहा कि बजट बोगस है, पिछले बजट के मुकाबले इस बजट में कुछ भी नया नहीं है. इसमें पुराने वादों को दोहराया गया है. यहां तक कि पुराने वादों को भी पूरा करने में सरकार विफल रही है.

उन्होंने आगे कहा कि, बजट न्यू इंडिया के नाम पर विनिवेश कर भारत को गुलाम बनाने की साजिश हैं. रोजगार सृजन के लिए कोई योजना नहीं है, कोई नई पहल नहीं की गई है, सच पूछें तो बजट जुमलों का पिटारा है. उत्पाद कर में बढ़ोतरी से पेट्रोल-डीजल की कीमत बढ़ेगी, जिससे आम आदमी के उपर खर्च का बोझ बढ़ेगा. प्राइवेट सेक्टर को बढ़ावा देकर बड़े-बड़े पूंजीपतियों को मदद करने वाला बजट है, जिससे पिछड़ों, दलितों के आरक्षण की हीं नहीं बल्कि गरीबी, बेरोजगारी की समस्या और भी जटिल होगी.

डॉ कुमार ने कहा कि अंततः सरकार ने 45 साल की उच्चतम बेरोजगारी की हकीकत को स्वीकार कर लिया है तो 2019 के बजट के जरिये देश में रोजगार सृजन के लिए एक विस्तृत योजना की घोषणा की जरूरत थी, जो बजट भाषण के दौरान नहीं दिखाई दी. विनिवेश के नाम पर देश की चल-अचल संपत्ति को बेचने की योजना इस बजट के माध्यम से जनता के बीच रखी गई है.

डॉ कुमार ने कहा कि 5 ट्रिलियन डाॅलर की अर्थव्यवस्था वाली जीडीपी 2025 तक संभव नहीं है. वर्तमान ग्रोथ रेट की वृद्धि दर जो मार्च तिमाही में 5.8 प्रतिशत पर फीसल गई थी, उसे 8 प्रतिशत से ज्यादा की वृद्धि दर चाहिए, तभी यह संभव है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.