Ultimate magazine theme for WordPress.

झारखंड विधानसभा चुनाव में जदयू नहीं उतारेगी आदिवासी या मुसलमान उम्मीदवार

0

पटना : झारखंड में इस साल नवंबर-दिसंबर महीने में विधानसभा चुनाव होना है. सभी पार्टी विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जूट गई हैं. लेकिन फिलहाल आगामी झारखंड विधानसभा चुनाव में जदयू चर्चा में, इसमें कोई झिझक नहीं है कि बिहार में सरकार की साथी बीजेपी से साठगांठ में सबकुछ ठीक नहीं है.

 

जदयू ने भी चुनाव को लेकर अपनी तैयारी शुरू कर दी है. पार्टी ने इस बार प्रदेश में कम से कम 25 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का लक्ष्य निर्धारित किया है.

 

साथ ही यह भी साफ हो गया है कि, जदयू यहां विधानसभा चुनाव में किसी पार्टी से गठबंधन नहीं करेगी. खबर है कि विधानसभा चुनाव से पहले नीतीश कुमार 25 अगस्त को झारखंड का रुख कर सकते हैं. इस यात्रा का मकसद राज्य के पार्टी कार्यकर्ताओं में जोश व ऊर्जा भरना होगा.

बात दें कि, झारखंड विधानसभा चुनाव के संबंध में शनिवार को पार्टी प्रमुख नीतीश के आवास पर पार्टी पदाधिकारियों की एक बैठक भी हुई.

बैठक में जेडीयू के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर भी शामिल हुए. इस बैठक में झारखंड के राजनीतिक मुद्दे पर विचार-विमर्श किया गया.

बिहार में जदयू भले ही बीजेपी के साथ है लेकिन मौजूदा हालात को मद्देनजर रखते हुए झारखंड में दोनों दलों के बीच गठबंधन होने के कोई आसार नज़र नहीं आ रहे हैं.

 

जदयू झारखंड में विधानसभा के उन सीटों पर ही दांव लगाना चाहती है, जहां पार्टी के जीतने की उम्मीद ज्यादा है.

पार्टी सूत्रों के मुताबिक झारखंड में चयन किये गए सीटों पर अति पिछड़ी, पिछड़ी और उच्च जाति के उम्मीदवार उतारे जाएंगे.

 

साथ ही खबर यह भी है कि, पार्टी उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर के दूसरे राज्यों में मसरूफ होने की वजह से इस चुनाव में वह प्रत्यक्ष रूप से बागडोर नहीं संभाल पाएंगे.

 

खबर ये भी है कि जदयू इस बार के विधानसभा चुनाव में किसी आदिवासी या मुसलमान उम्मीदवारों को टिकट नहीं देगी.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.