Ultimate magazine theme for WordPress.

कारगिल युद्ध विजयगाथा: Public View भारतीय जवानों के अटूट जज़्बे को सलाम

0

वो दिन था 26 जुलाई और साल था 1999 जब भारत ने कारगिल युद्ध (Kargil War) में विजय हासिल की थी. कारगिल युद्ध में भारत की जीत के बाद से हर साल 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) मनाया जाता आ रहा है.

कारगिल विजय दिवस कारगिल युद्ध में शहीद हुए भारत मां के वीर सपूतों के सम्मान व याद में मनाया जाता है. उन भारत मां के वीर सपूतों की याद में जिन्होंने अपनी जान बाज़ी लगा दी अपने देश अपने वतन के लिए.

कारगिल युद्ध को ऑपरेशन विजय के नाम से भी जाना जाता है, ऑपरेशन विजय उस विजयगाथा का नाम है जिसमे भारत और पाकिस्तान के बीच मई और जुलाई 1999 के बीच कश्मीर के कारगिल जिले में हुए सशस्त्र संघर्ष में हमारे वतन के रखवालों ने पाकिस्तान को औंधे मुंह गिरा कर फिर से तिरंगा लहराया था.

कारगिल युद्ध (Kargil War) लगभग 60 दिनों तक चलता रहा और 26 जुलाई को उसका अंत हुआ. भारतीय सेना और वायुसेना ने पाकिस्तान के कब्ज़े वाली जगहों पर ताबड़तोड़ हमला किया बम बरसाए और धीरे-धीरे अंतर्राष्ट्रीय मदद से पाकिस्तान को अपने कदम पीछे खींचने पड़े और सीमा पार वापिस जाने को मजबूर होना पड़ा.

इस युद्ध में पाकिस्तानी घुसपैठियों के खिलाफ सेना की ओर से की गई मुहतोड़ कार्रवाई में भारतीय सेना के 527 जवान शहीद हुए तो करीब 1363 घायल हुए थे.

वहीँ इस लड़ाई भारतीय जवानों ने पाकिस्तान के करीब 3000 सैनिक को मार गिराया था, मगर पाकिस्तान मानता है कि उसके करीब 357 सैनिक ही मारे गए थे.

कारगिल युद्ध भारतीय सेना के साहस और जांबाजी का ऐसा उदाहरण है जिस पर हर देशवासी का सीना गर्व से फूल जाता है.

कारगिल जंग घटनाक्रम

  • 3 May,1999 : ताशी ने भारतीय सेना को कारगिल में पाकिस्तान सेना के घुसपैठ की जानकारी दी.
  • 5 May : भारतीय सेना की पेट्रोलिंग टीम जानकारी लेने कारगिल पहुंची तो पाकिस्तानी सेना ने उन्हें पकड़ लिया और उनमें से 5 की हत्या कर दी.
  • 9 May : पाकिस्तानी सेना की गोलाबारी से भारतीय सेना का कारगिल में मौजूद गोला बारूद का स्टोर नष्ट हो गया.
  • 10 May : पहली बार लदाख का प्रवेश द्वार यानी द्रास, काकसार और मुश्कोह सेक्टर में पाकिस्तानी घुसपैठियों को देखा गया.
  • 26 May : भारतीय वायुसेना को कार्यवाही के लिए आदेश दिया गया.
  • 27 May : कार्यवाही में भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान के खिलाफ मिग-27 और मिग-29 का भी इस्तेमाल किया और फ्लाइट लेफ्टिनेंट नचिकेता को बंदी बना लिया.
  • 28 May : एक मिग-17 हैलीकॉप्टर पाकिस्तान द्वारा मार गिराया गया और चार भारतीय जवानो की जान चली गई.

पाकिस्तान की ओर से चाहे कितने भी हमले किए गए हो, लेकिन इतिहास गवाह है भारतीय सेना ने कभी भी उनके आगे घुटने नहीं टेकें हैं और ईंट का जवाब पत्थर दिया है.

Public View कारगिल युद्ध में शहीद हुए सभी जवानों को श्रद्धांजलि और सलाम करता है.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.