Ultimate magazine theme for WordPress.

जानिए क्यों अब बिना ड्राइवर के ट्रैक पर चलेगी दिल्ली मेट्रो

0

दिल्ली मेट्रो पिछले कई वर्षों से लोगों के आवागमन का सबसे प्रमुख साधन बन चुकी है. इस संबंध में दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन ने एक योजना तैयार की है. जिसमें बताया जा रहा है कि इस योजना के तहत मई 2020 से पिंक और मजेंटा लाइन पर चलने वाली मेट्रो ट्रेन ड्राइवर के बिना ही ट्रैक पर चलेगी.

होंगे कई फायदे

मेट्रो के इस नई योजना CTBT तकनीक के प्रयोग से काफी फायदे होंगे. इसका सबसे बड़ा फायदा यह होगा कि दो ट्रेनों के बीच की दूरी कम हो जाएगी.

जिसके चलते कम समय में ही लोगों को मेट्रो ट्रेन मिल जाया करेंगी, साथ ही यह काफी सुरक्षित भी होगी.

DMRC के अधिकारियों के अनुसार अब मेट्रो में ड्राइवरों के स्थान पर रोमिंग अटेंडेंट होंगे. जो ट्रेन में एक कोने से दूसरे कोने तक घूमेंगे और यात्रियों को होने वाली परेशानियों का समाधान करेंगे.

इसके साथ ही यह ट्रेन चलाने में भी योग्य होंगे और किसी भी आपात स्थिति में ट्रेन का पूरा कंट्रोल ये अपने हाथ में ले लेंगे.

DMRC के अधिकारियों के अनुसार यह परीक्षण कुछ वैसा ही होगा जैसे पहले एलिवेटर्स आए तो अटेंडेंट लोगों की मदद के लिए मौजूद होते थे.

लेकिन बाद में लोगों को इस तकनीक पर भरोसा होने लगा और उनका विश्वास बढ़ा. जिसके बाद अटेंडेंट को हटा लिया गया. कुछ ऐसा ही दिल्ली मेट्रो की ड्राइवर लैस सेवा में भी होगा. लोगों को इस तकनीक से फ्रैंडली करने के लिए अटेंडेंट मौजूद रहेंगे.

पिछले साल दिसंबर में इन ट्रेनों का परीक्षण शुरू कर दिया गया था. जिसके लिए दक्षिण कोरिया से 5 मेट्रो दिल्ली मंगाई गयी थी. इन मेट्रो ट्रेनों की सबसे बड़ी खासियत इसकी तकनीकी होगी, जिस वजह से यह मेट्रो बिना ड्राइवर के ही ट्रैक पर चलेगी.

बताया जा रहा है कि मेट्रो का लुक और स्पेस मौजूदा मेट्रो से अलग और बेहतर होगा. जिसमें यात्री सुरक्षित सफर कर सकेंगे.

अब देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.publicview.in पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.