Ultimate magazine theme for WordPress.

CWC19: जानिए टीम इंडिया की क्या है रणनीति मेजबान इंग्लैंड के खिलाफ 30 जून की मैच में ?

0

इस रविवार को एजबेस्टन में होने वाले भारत बनाम इंग्लैंड के मैच को विश्व कप के सबसे हाई-प्रोफाइल मुकाबलों में से एक माना जा रहा है. विश्व कप में भारत और इंग्लैंड पसंदीदा टीम बन कर उभरी हैं. भारत बनाम इंग्लैंड के मैच का लोग बेसब्री से इंतज़ार कर रहे थे. बस अब से कुछ घंटों में वो वक़्त आ जायेगा जब सभी का इंतज़ार ख़त्म हो जायेगा.

जहां भारत अपनी नाबाद जीत की लकीर को बनाए रखने की कोशिश करेगा, वहीँ इंग्लैंड लगातार दो मैच हारने के बाद अपनी जीत के अभियान को पटरी पर लाने की कोशिश करेगा.

अगर इंग्लैंड भारत से हार जाता है, तो उसे सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करने के लिए अन्य मैचों के परिणामों पर निर्भर रहना होगा. ये कहने की जरूरत नहीं है कि मेजबान टीम रविवार को जीत हासिल करने के मक़सद से उतरेंगी. इस टूर्नामेंट भारत को अभी तक किसी भी टीम ने नहीं हराया है, लेकिन अगर कोई टीम है जो ‘मैन इन गेरुआ’ को हरा सकती है, तो वो है इंग्लैंड.

भारत ने पहले छह मैचों में 11 अंक हासिल किये हैं, भारत के मध्य क्रम पर हमेशा संदेह था और पिछले दो मैचों के असफलता ने परेशानी बढ़ा दी है.

भारत के गेंदबाजी आक्रमण ने अफगानिस्तान और वेस्टइंडीज दोनों के खिलाफ भारत को बचा लिया. लेकिन इंग्लैंड के पास बहुत मजबूत बल्लेबाजी है, और वे किसी भी गेंदबाजी लाइन को ध्वस्त कर सकते हैं. मेजबान पिछले दो मैचों में मामूली स्कोर का पीछा करने में विफल रहे हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि उनकी बल्लेबाजी रातोंरात खराब हो गई है.

पिछले 24 महीनों में, इंग्लैंड ने मस्ती में 300+ स्कोर बनाए हैं. अगर इंग्लैंड की बल्लेबाजी पूरी तरह से चली, तो उन्हें 320 रन से कम पर रोक पाना भारतीय गेंदबाजों के लिए आसान नहीं होगा. मेजबानों को पता है कि भारत के खिलाफ एक जीत उनके अभियान को फिर से पटरी पर लाएगी, और यह नॉकआउट से पहले आत्मविश्वास बढ़ाने का काम करेगा.

मौजूदा फॉर्म के आधार पर, भारत दर्शकों का पसंदीदा टीम होगा, लेकिन इंग्लैंड को सीमित ओवरों के क्रिकेट में अपने हालिया फॉर्म को देखते हुए हल्के में लेना समझदारी नहीं है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.