Ultimate magazine theme for WordPress.

अब पैसे से नहीं बल्कि कचरे से मिलेगा भोजन और नाश्ता.

0

अगर मैं आपको कहूं कि अब पैसे से नहीं बल्कि कचरे से खाना मिलेगा तो आपको क्या लगेगा ? अगर मैं कहूं कि एक किलो कचरे के बदले खाना और आधे किलो के बदले नाश्ता मिलेगा तो कैसा होगा ?

तो आप कहेंगे कि बकवास बंद करो और क्या ख़बर है वो बताओ. तो फिर मैं आप से कहूंगा कि मैं बकवास नहीं बल्कि खबर ही बता रहा हूं. जी हां छत्तीसगढ़ के अम्बिकापुर में बहुत जल्द एक कैफ़े खुलने वाला है जिसका नाम होगा “Garbage Cafe” यानी कचरा कैफ़े, जहां आपको कचरे के बदले भोजन दिया जाएगा.

अंबिकापुर नगर निगम (AMC) एक अनूठी पहल के साथ शहर को प्लास्टिक मुक्त बनाने के लिए पूरी तरह तैयार है. एएमसी कुछ दिनों के भीतर ‘गारबेज कैफे’ खोलेगा, जिसके तहत गरीब लोगों और कचरा बीनने वालों को एक किलोग्राम प्लास्टिक के बदले में मुफ्त भोजन मिलेगा, जबकि आधा किलोग्राम प्लास्टिक होने पर नाश्ता उपलब्ध कराया जाएगा.

“हम एक नया प्रावधान लेकर आए हैं कि यदि कोई एक किलोग्राम प्लास्टिक लाता है, तो उसे मुफ्त में भोजन मिलेगा और आधे किलोग्राम प्लास्टिक पर उन्हें नाश्ता मिलेगा. “हमने इसे ‘कचरा कैफे’ नाम दिया है,” अंबिकापुर के मेयर अजय तिर्की ने कहा.

उन्होंने कहा, “हमारे यहां डोर-टू-डोर यानी घर-घर जा कर कूड़ा उठाने की प्रक्रिया पहले से ही है.

हम प्लास्टिक को फिर से बेचते हैं. कैफ़े के लिए बजट में हमने 6 लाख रुपये आवंटित किए हैं.”

हालाँकि, इस पहल की विपक्षी दलों ने कठोर आलोचना की, जिन्होंने दावा किया कि शहर पहले से ही साफ है और मुफ्त भोजन पाने के लिए कचरा बीनने वालों को शहर में कहीं भी प्लास्टिक नहीं मिलेगा.

“अंबिकापुर नगर निगम देश में स्वच्छता के मामले में दूसरे स्थान पर है. योजनाओं के तहत, यह प्रस्तावित है कि कचरा बीनने वाले को एक किलोग्राम प्लास्टिक और आधे किलोग्राम प्लास्टिक के लिए मुफ्त भोजन दिया जाएगा.

एक किलोग्राम प्लास्टिक के लिए, एक आदमी को बदले में 20 रुपये मिलते हैं. डॉ.रमन सिंह की योजना पहले से ही है, जो 1 रुपये प्रति किलो अनाज प्रदान करता है. यह पहल जल्द ही विफल हो जाएगी, “एएमसी में विपक्षी नेता जनमेजय मिश्रा ने कहा.

लेकिन स्थानीय लोगों का मानना ​​है कि इस पहल के बाद शहर साफ हो जाएगा.

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें पढ़िए www.Publicview.In पर, साथ ही साथ आप Facebook, Twitter, Instagram और Whats App के माध्यम से भी हम से जुड़ सकते हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.