Ultimate magazine theme for WordPress.

जानलेवा Nipah Virus ने फिर वापसी की है, जानिए क्या हैं इसके लक्षण ?

0

तिरुवनंतपुरम: केरल के स्वास्थ्य मंत्री केके शैलजा ने मंगलवार को पुष्टि की कि एर्नाकुलम के एक निजी अस्पताल में भर्ती 23 वर्षीय छात्र में निपाह वायरस के लिए सकारात्मक लक्षण पाया गया है.

स्वास्थ्य विभाग बीमारी के फैलाव को रोकने के लिए लोगों से लगातार संपर्क में है. मरीज के संपर्क में आए अस्सी लोगों पर फिलहाल नजर रखी जा रही है.

“जो लोग 23 वर्षीय मरीज़ के संपर्क में आए हैं, उनमें से दो में बुखार के लक्षण हैं पाए गए हैं. उनमें से एक को आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया है. यह कोई बहुत गंभीर स्थिति नहीं है, लेकिन हमने फिर भी बुखार और गले में खराश के कारण उसे भर्ती कराया है. अस्पताल में दो नर्सों का भी इलाज भी चल रहा था.

कैसे फैलता है निपाह वायरस ?

प्राकृतिक रूप से निपाह वायरस फैलने का मुख्य कारण चमगादड़ हैं, जो उनसे दूसरे जानवरों और मनुष्यों तक पहुंचा सकता है. यह वायरस इंसान के माध्यम से भी फ़ैल सकता है लेकिन तभी जब कोई निपाह के मरीज़ का किसी दूसरे वयक्ति से बहुत करीब से संपर्क हो..

क्या हैं इसके लक्षण ?

प्रारंभिक लक्षणों में बुखार, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, उल्टी और गले में खराश शामिल हैं. बाद में चक्कर आना, परिवर्तित चेतना और तंत्रिका संबंधी लक्षण विकसित हो सकता है, जो तीव्र एन्सेफलाइटिस का संकेत देते हैं. कुछ लोगों में तीव्र श्वसन संकट के लक्षण भी दिखाई पड़ सकते हैं.

लोगों की चिंताओं पर ध्यान देने के लिए एर्नाकुलम जिला प्रशासन द्वारा एक कण्ट्रोल रूम बनाया गया है. लोग वायरस और स्थिति के बारे में कोई चिंता या संदेह होने पर हेल्पलाइन नंबर 1077 पर कॉल कर सकते हैं.

कैसे करें बचाव ?

  • इस बीमारी से बचने के लिए फलों, खासकर खजूर खाने से बचना चाहिए।
  • पेड़ से गिरे फलों को नहीं खाना चाहिए।
  • बीमार सुअर और दूसरे जानवरों से दूरी बनाए रखनी चाहिए।
  • संक्रमित व्यक्ति से दूरा बनाएं रखें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.