Ultimate magazine theme for WordPress.

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने माँगा बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से इस्तीफा

0

बिहार में जहाँ AES जिसे स्थानीय भाषा में चमकी कहा जाता है, से अब तक 150 से अधिक बच्चों की जान जा चुकी है. लचर चिकित्सा व्यवस्था को देखते हुए बिहार के नीतीश सरकार पर विपक्ष लगातार निशाना साध रही थी और बच्चों की मौत पर जवाबदेही मांग रही थी.

बिहार के इस त्रासदी के दरम्यान होते राजनितिक उठापटक ने एक नया मोड़ लिया है. सूत्रों ने पब्लिक व्यू को बताया है कि, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे से इस्तीफा माँगा है .

सूत्रों के मुताबिक नीतीश कुमार बिहार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे पर इस्तीफे का दबाव बना रहे हैं. चमकी बुखार से हुई बच्चों की मौत पर बिहार सरकार कटघरे में खड़ी है, हो सकता है कि नीतीश कुमार को लग रहा हो कि इस मुश्किल घड़ी में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री का इस्तीफा उनकी सरकार को थोड़ा राहत पहुंचा सकता है.

मुख्यमंत्री कुमार का मानना है कि, चमकी बुखार के मामले में मुख्यमंत्री से ज्यादा स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी थी, और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे हैं.

इस बात पर यह तो साफ़ हो गया कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपना दामन बचाते हुए सारी जिम्मेदारी राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के माथे पर डाल दी है.

लेकिन वहीँ दूसरे बीजेपी के सूत्रों ने भी बताया, कि वह इस्तीफा नहीं देंगे. ये तो जगजाहिर है कि बीते कुछ वक़्त से बीजेपी और जेडीयू के बीच अनबन चल रही है. ये मसला उनके राजनितिक उठापटक में चार चाँद और लगा सकता है.

वहीं बीजेपी के नेताओं ने इसे राजनितिक फायदे के लिए उठाया गया कदम करार दिया है. पार्टी का मानना है कि यह आज का मसला नहीं है. यह हर साल होता है. इसके लिए दीर्घकालीन नीति बनानी पड़ेगी, जो बिहार सरकार को करना चाहिए.

सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि अभी वो इस्तीफा दे दें, बाद में उन्हें एडजस्ट कर लेंगे.

खैर आरोप-प्रत्यारोप के बिच देखना या होगा कि अंत में क्या होता हैं. यूँही दोनों पार्टी एक दूसरे पर आरोप लगाती रहेंगी या बिहार के स्वास्थ्य मंत्री को नितीश कुमार के कहने पर पद छोड़ना होगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.