Ultimate magazine theme for WordPress.

साधारण धोती- कुर्ता और हवाई चप्पल पहनने के कारण बुजुर्ग व्यक्ति को शताब्दी एक्सप्रेस में चढ़ने से रोका

0

UP के इटावा जिले के रेलवे स्टेशन पर एक चौकाने वाला मामला सामने आया है. इटावा रेलवे स्टेशन पर एक बुजुर्ग को शताब्दी एक्सप्रेस में केवल इसलिए चढ़ने नहीं दिया क्योंकि उस बुजुर्ग व्यक्ति ने साधारण धोती- कुर्ता और हवाई चप्पल पहन रखी थी.

दरअसल, UP के बाराबंकी जिले के निवासी बाबा अवधदास शुक्रवार को इटावा स्टेशन पर गाजियाबाद जाने के लिए गए थे. बाबा अवधदास के पास शताब्दी की C-2 कोच में 72 नंबर की टिकट सीट गाजियाबाद जाने के लिए कन्फर्म थी.

बाबा अवधदास जैसे ही ट्रैन में चढ़ने जा रहे थे उसी दौरान एक सिपाही ने उन्हें ट्रैन में चढ़ने से रोक दिया क्योंकि वह बेहद ही साधारण से दिख रहे थे. सिपाही द्वारा बाबा अवधदास के साथ हुई बदसलूकी से दुखी होकर बुजुर्ग यात्री बाबा अवधदास ने स्टेशन पर मौजूद शिकायत पुस्तिका में शिकायत दर्ज की और बाद में रोडवेज बस से अपना सफर पूरा किया.

बाबा अवधदास पेशे से साधु हैं और वह भक्तों के घर जाते रहते हैं. उन्होंने कहा कि साधारण धोती- कुर्ता और पैरों में रबर की हवाई चप्पल पहने होने के कारण सिपाही ने उन्हें ट्रैन में चढ़ने से रोक दिया. इसके अलावा बाबा अवधदास ने बताया कि उन्होंने अपना टिकट भी सिपाही को दिखाया था, लेकिन तब तक 2 मिनट हो चुके थे और ट्रेन प्लेटफार्म से जा चुकी थी.

एक बुजुर्ग व्यक्ति के साथ हुई इस बदसलूकी के कारण UP में भेदभाव की प्रक्रिया जरूर शुरू कर दी है. लोग सोशल मीडिया पर बाबा अवधदास के लुक को महात्मा गाँधी के लुक साथ मिला रहे है. क्यूंकि एक बार 7 जून 1893 को दक्षिण अफ्रीका में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भी ट्रैन से इसलिए उतार दिया गया था क्योंकि उन्हें साधारण से सफ़ेद धोती- कुर्ता पहने हुए थे.

Leave A Reply

Your email address will not be published.