Ultimate magazine theme for WordPress.

सोमवार से संसद सत्र शुरू, ट्रिपल तलाक सहित कई मुद्दों पर होंगी चर्चा

0

17वीं लोकसभा का पहला संसद सत्र सोमवार को शुरू होगा. PM नरेंद्र मोदी ने इस सत्र की शुरुआत होने से पहले रविवार को सभी दलों के साथ बैठक में चर्चा की कि संसद में इस बार कई नए चेहरे होने की वजह से यह सत्र नई सोच व ख़ुशी के साथ शुरू होना चाहिए. संसद सत्र 26 जुलाई को समाप्त होगा जिसमें पहले सत्र में कुल 30 बैठक होगी. शुरुआत के दो दिनों में प्रोटेम स्पीकर वीरेंद्र कुमार सांसदों को शपथ दिलाएंगे.

शपथ के दौरान पहले दिन PM नरेंद्र मोदी, राजनाथ सिंह, अमित शाह, सोनिया गांधी, राहुल गांधी समेत कई दिग्गज नेता सांसद में मौजूद रहेंगे.

5 जुलाई को सरकार द्वारा पूर्ण बजट पेश किया जाएगा. जिसमें पहली बार महिला वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण बजट पेश करेंगी. इसके साथ ही 17वीं लोकसभा के इस सत्र में कई चर्चित चेहरे संसद में नहीं दिखेंगे. जैसे कि BJP के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, सुषमा स्वराज और लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन संसद में नहीं दिखेंगी.

पूर्व कांग्रेस पार्टी के उपनेता रहे ज्योतिरादित्य सिंधिया भी इस संसद सत्र में नजर नहीं आएंगी. इसके अलावा ज्यादातर कांग्रेस, समाजवादी पार्टी, AIADMK, तृणमूल कांग्रेस के नेता संसद में
नज़र नहीं आएंगे.

कांग्रेस ने कहा कि हमारे बीच विचारधारा की लड़ाई हैं और यह आने वाले समय में भी रहेगी. कांग्रेस ने सरकार को बधाई देते हुए कहा कि कुछ मुद्दे ऐसे हैं, जिसकी तरफ सरकार को ध्यान देना होगा. इसमें किसानों के मुद्दे, सूखे की समस्या, बेरोजगारी, प्रेस की स्वतंत्रता और स्वायत्त संस्थानों की स्वतंत्रता जैसे मुद्दे शामिल हैं. सरकार को इन सभी मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए.

इन मुद्दों पर संसद में होंगी चर्चा

मोदी सरकार के लिए यह पहला सत्र बहुत ही महत्वपूर्ण होगा. इसमें सरकार केंद्रीय शैक्षणिक संसथान, तीन तलाक, जम्मू कश्मीर आरक्षण, अंतर्राष्ट्रीय विधेयक 2019, विशिष्ट आर्थिक विधेयक क्षेत्र सहित आधार व अन्य कानून संशोधन को सरकार सदन के सत्र में ला सकती है.

इसके अलावा सरकार को इस सत्र में पिछली सरकार के समय से लागू 10 अध्यादेशों को रद्द करके उनकी जगह पर बिल पास कराना जरूरी होगा.

लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के अपने पद छोड़ने पर अड़े रहने के कारण यह संकट पैदा हो गया है कि कांग्रेस का आगामी अध्यक्ष कौन होगा. क्यूंकि लोकसभा सत्र शुरू हो गया लेकिन कांग्रेस पार्टी अभी तक अपने नेता का नाम तय नहीं कर पाई है. पार्टी अब ऐसे सांसद की खोज कर रही है जो गांधी परिवार के विश्वसनीय होने के साथ-साथ पार्टी की बात को हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओँ में सबके सामने रखने में सक्षम हो.

PM मोदी लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसदों के साथ 20 जून को शाम 7 बजे एक बैठक करेंगे. उम्मीद लगाई जा रही हैं कि सोमवार से शुरू हो रहे संसद सत्र में कामकाज बेहतर तरीके से होगा.

Leave A Reply

Your email address will not be published.