Ultimate magazine theme for WordPress.
Medha Milk

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद संसद सत्र को करेंगे सम्बोधित, बताएंगे ‘मोदी 2.0’ का विजन

0

17 जून से शुरू हुआ 17वीं लोकसभा का संसद सत्र 26 जुलाई तक चलेगा. संसद के इस संयुक्त सत्र को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद गुरुवार (20 जून) को सम्बोधित करेंगे. राष्ट्रपति कोविंद का अभिभाषण 11 बजे सेंट्रल हॉल में शुरू होगा. जिसमें राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सरकार की योजनाओं और सरकार के एजेंडे को देश के सामने रखेंगे. राष्ट्रपति के अभिभाषण के बाद ही संसद सत्र की कार्यवाही शुरू होती हैं.

संसद की ये परंपरा रही है की नई लोकसभा का पहला सत्र राष्ट्रपति के संबोधन के बाद ही शुरू होता हैं. इसके अलावा राज्यसभा सत्र भी गुरुवार से शुरू होगा जोकि 26 जुलाई तक चलेगा. राष्ट्रपति के सत्र को सम्बोधित करने के दौरान लोकसभा और राज्यसभा के सभी सांसद मौजूद रहेंगे. राष्ट्रपति के संबोधन के बाद दोनों सदनों की कार्यवाही शुरू होगी.

5 जुलाई को मोदी सरकार का बजट पेश किया जाएगा. बजट पेश करने से पहले मोदी वित्त मंत्रालय के सभी विभागों के 5 अधिकारियों के साथ बैठक करेंगे. जिसमें देश की आर्थिक वृद्धि को बढ़ाने के लिए और रोजगार को बढ़ावा देने के लिए विचार- विमर्श होगा. बजट पेश करने से पहले राष्ट्रपति का अभिभाषण होता है.

बुधवार को लोकसभा अध्यक्ष के स्पीकर चुने जाने के बाद ओम बिरला ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से मुलाकात की थी. राष्ट्रपति से मिलने के बाद लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू से मिलने उनके घर गए थे. अधिकारियों ने बताया कि ये दोनों मुलाकात आदरणीय थी.

ओम बिरला से मुलाक़ात के बाद उपराष्ट्रपति ने ट्वीट किया कि, ‘‘ मुझे विश्वास है कि सार्वजनिक जीवन में लंबा अनुभव रखने वाले बिरला सर्वश्रेष्ठ संसदीय परिपाटी और परंपराओं को बरकरार रखते हुए संसदीय लोकतंत्र को देश में मजबूत करने के लिए कदम उठाएंगे.

इस सत्र में संसद में कई महत्वपूर्ण बिलों पर चर्चा हो सकती है जिसमें तीन तलाक जैसे मुद्दे शामिल हैं क्यूंकि मोदी सरकार का पहले कार्यकाल में लाया गया यह प्रमुख बिल हैं. सरकार इस बिल को जल्द से जल्द पास कराना चाहती है

Leave A Reply

Your email address will not be published.