Ultimate magazine theme for WordPress.

रांची : नवजात बच्चों के शव को बोतल में बंद करके, मेले में दिखाया जा रहा तमाशा

0

झारखंड की राजधानी रांची से एक बड़ा ही अटपटा- सा मामला नजर आया है. रांची के ऐतिहासिक जगन्नाथपुर मेले
से एक मामला सामने आया है जिसके बारे में जानकर सभी को आश्चर्य होगा.

दरअसल, रांची के जगन्नाथपुर मेले में नवजात बच्चों के शव पर तमाशा किया जा रहा था. नवजात बच्चों के शव को बोतलों में बंद करके उनके शरीर को केमिकल के साथ तमाशा दिखाया जा रहा था.

मेले में मासूम बच्चों की जिंदगी खत्म करके दिखाए जाने वाला यह तमाशा पुलिस की मौजूदगी में लोगों को दिखाया जा रहा था. मेला समिति ने भी इस पर कोई एक्शन नहीं लिया.

मेले में दिखाए जा रहे इस तमाशे की फोटो बुधवार को तेजी से वायरल होने लगी जिसके बाद हटिया के DSP प्रभात रंजन बरवार के आदेश पर धुर्वा थाने की पुलिस मौके पर पहुंची और नवजात बच्चों के जीवन को खत्म करके खेल दिखाने वाले तीन लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस तीनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है.

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उन्होंने मेला समिति को बताकर मेले में स्टॉल लगाए थे. जिसके लिए उन्होंने समिति के लोगों को 10 हजार रुपए भी दिए थे. आरोपियों ने कहा कि वह बच्चों की लाश कोलकाता के एक मेडिकल कॉलेज से लाए थे. पुलिस यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि क्या सच में बच्चों के शव को कोलकाता से ही लाया गया था.

तीनों आरोपियों की पहचान कोलकाता के सोरे बाजार के जयमित्री स्ट्रीट के रहने वाले वकील माइटी, पिंटू माइटी और प्रभात सिंह के रूप में हुई है.

मेला समिति के लोगों से इस मामले के बारे में पूछने पर न्यास समिति के कोषाध्यक्ष लाल प्रवीर नाथ शहदेव ने कहा कि उनकी अनुमति के बिना यह स्टॉल लगाया गया था. मेला समिति का तमाशा करने वालों से कोई संबंध नहीं है. इससे पहले इस तरीके का कोई तमाशा मेले में नहीं लगा है.

मेले में मासूम बच्चों की लाश के साथ किया जा रहा तमाशा वहां आए भारी संख्या में लोगों को दिखाया जा रहा था. मौजूद लोग तमाशा देखने के साथ- साथ प्रदर्शन दिखाने वालों को पैसे भी दे रहे थे, लेकिन किसी ने भी इस वाहियात तमाशे को रोकने की कोशिश नहीं की.

Leave A Reply

Your email address will not be published.