Ultimate magazine theme for WordPress.

RSS को अभी इंतजार है ‘हिंन्दु’स्तान में स्वर्णिम काल का, 2022 में शताब्दी वर्ष की तैयारी

0

BJP ने RSS से 12 प्रचारकों की मांग की है ताकि राष्ट्रीय स्तर और प्रदेशों में संगठन की जिम्मेदारी इन्हें दी जा सकें. क्यूंकि BJP में RSS संगठन को मंत्री का दायित्व देने की परंपरा है.

BJP के पार्टी में पूरी तरह से पीढ़ी परिवर्तन के बाद अब संघ में भी कई स्तरों पर बदलाव किया जा सकता है. ऐसा कहा जा रहा है कि BJP के साथ साथ दूसरे संगठनों में उन लोगों को कार्य की जिम्मेदारी दी जाएगी जिनकी उम्र 50 वर्ष के आस पास हो.

BJP की इस सोच के पीछे का कारण यह है कि ऐसे लोगों को संगठन में आगे लाया जाए जो लगातार दस- पंद्रह वर्षो तक काम कर सकें.

BJP ने वैसे तो अपना ऐतिहासिक विस्तार कर लिया है लेकिन दक्षिण के राज्यों में भाजपा को अभी भी बड़ी उम्मीद की जरूरत है. इसलिए BJP केंद्रीय नेतृत्व की तरफ से यह याद दिलाने की कोशिश कर रही है कि अभी पार्टी के ठहरने का समय नहीं आया है. भारत में स्वर्णिम काल हासिल करने का सपना अभी बाकी है.

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा में RSS की तीन दिवसीय बैठक चल रही है जो कि 11 से शुरू हुई थी और 13 जुलाई यानि आज खत्म होगी.

इस बैठक में देश भर के करीब 300 संघ प्रचारक हिस्सा लेंगे. BJP से लेकर संघ में कार्य करने वाले कुछ प्रचारक नई भूमिकाओं में दिख सकते हैं.

BJP ने संघ के साथ बैठक में कुछ बदलाव किए हैं. जिसमें से सुत्रों के मुताबिक, BJP संगठन महामंत्री की भूमिका निभाने वाले रामलाल जी, जो BJP में राष्ट्रीय संगठन मंत्री पद पर थे, उन्हें उनके पद से हटा कर घर वापस भेज दिया और अब संघ में अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख का पद दिया गया है.

भाजपा का राजनीती रूप बदल चूका है और वह सत्ता में दोबारा आ चुकी है. जिसके बाद अब BJP ज्यादा मौके युवाओं को देगी क्यूंकि BJP के पास समय भी है और संसाधन भी.

जाहिर सी बात है कि आने वाले समय में भाजपा RSS में बदलाव करेगी और 2022 में सम्पूर्ण भारत में स्वर्णिम काल का सपना पूरा करने में सफल हो सकती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.