Ultimate magazine theme for WordPress.

मध्य प्रदेश के सिवनी में गोमांस ले जाने की अफवाह में तथाकथित गौ रक्षकों ने एक महिला सहित दो मुस्लिमों को सरेआम पीटा.

0

हमारे देश में भीड़ द्वारा हमला करना या भीड़ द्वारा किसी कि हत्या करना आम सी बात हो गई है. 2014 से तथाकथित गौ रक्षकों द्वारा किसी निर्दोष पर हमला करने का प्रचलन रुक नहीं रहा है. ऐसी ही एक घटना 22 मई को मध्य प्रदेश से सामने आयी.

मध्य प्रदेश के सिवनी में गोमांस ले जाने की अफवाह को लेकर तथाकथित गौ रक्षकों ने एक महिला सहित दो मुस्लिमों को सरेआम पीटा.

पीड़ितों का आरोप है कि उन्हें आरोपियों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने के लिए मजबूर किया.

तथाकथित गौ रक्षकों ने इस बात पर झड़प शुरू की कि उन्हें संदेह था कि दो मुस्लिम युवक और एक महिला, जो ऑटो में यात्रा कर रहे थे वो अपने साथ गोमांस ले जा रहे थे.

तथाकथित गौ रक्षकों द्वारा युवकों को लाठियों से पीटा जा रहा है,एक युवक को अपने साथी को चप्पल से मारने के लिए मजबूर किया जा रहा है और साथी साथ जय श्री राम का नारा लगाने को बोला जा रहा है.

गुंडों द्वारा युवकों पर ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने के लिए चिल्लाते हुए भी सुना जा सकता है, जिसमें से एक युवक ने उनके साथ गई महिला को पीटने के लिए मजबूर किया.वीडियो में हमने देखा कि कैसे एक युवक गुंडों द्वारा मजबूर किये जाने पर अपने साथ गयी महिला को चप्पल से मार रहा है.

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है, जबकि अन्य आरोपियों को पकड़ने के लिए तलाश जारी है.

इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, “मोदी मतदाताओं द्वारा बनाए गए विजिलेंट द्वारा मुसलमानों के साथ कुछ इस तरह से व्यवहार किया जाता है.”

अखिल भारतीय महिला कांग्रेस ने भी ट्वीट किया, “इस तरह गौ रक्षक से सिवनी, एमपी में विजय भारत का जश्न मना रहे हैं. मुस्लिम व्यक्ति को गोमांस ले जाने के संदेह में पीटा जा रहा है और फिर जय श्री राम कहने के लिए उसकी पत्नी की पिटाई की जा रही है. अत्यंत दुखद.”

https://twitter.com/MahilaCongress/status/1132149513915781120

अगर हम आंकड़ों की बात करें तो वर्ष 2012 से लेकर अब तक 127 ऐसी घटना हो चुकी है जिसमे 320 लोगों पर गौ रक्षकों द्वारा हमला किया गया है. सवाल बड़ा ये है कि MP में कांग्रेस की सरकार होने के बावजूद प्रशासन खामोश है. अब देखना होगा कि दूबारा सत्ता में आने वाली मोदी सरकार नफरत से भरे भीड़ पर कैसे काबू कर पाती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.