Ultimate magazine theme for WordPress.

SCO समिट में पहुंचे PM मोदी, भारत और चीन के सम्बन्ध में शी जिनपिंग से की मुलाक़ात

0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई सहयोग संगठन (SCO) के सम्मेलन में हिस्सा लेने किर्गिस्तान के बिश्केक पहुंच चुके हैं. PM नरेंद्र मोदी ने चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से SCO सम्मेलन से अलग बातचीत की. जिसके दौरान जिनपिंग ने PM मोदी से कहा कि भारत और चीन एक-दूसरे के लिए खतरा नहीं हैं.

इसके साथ ही जिनपिंग ने दोनों देशों के बीच विकास की सांझेदारी को बढ़ाने के लिए, भारत के प्रयासों में शामिल होने की इच्छा जताई. लोकसभा चुनाव में भारी बहुमत से जीत के बाद तथा दोबारा प्रधानमंत्री बनने के बाद PM मोदी और राष्ट्र्पति शी जिनपिंग की यह पहली मुलाकात है.

शुक्रवार को भारत SCO सम्मेलन के आयोजक किर्गिस्तान के साथ भी बैठक करेगा. इस सम्मेलन में पाकिस्तान के PM इमरान खान भी हिस्सा ले रहे हैं. हालांकि PM मोदी और इमरान खान के बीच दोपक्षीय बैठक की योजना नहीं है.

शी जिनपिंग ने कहा कि, ‘दोनों देशों के बीच विकास की सांझेदारी को बढ़ाने के लिए चीन लगातार भारत के साथ मिलकर काम करने को तैयार है.’ सरकारी समाचार एजेंसी से खबर मिली है कि, जिनपिंग ने दोनों देशों से इस मूल सिद्धांत पर अमल करने को कहा हैं कि ‘चीन और भारत एक-दूसरे को विकास के लिए अवसर देते हैं, और एक-दूसरे के लिए वह कोई खतरा नहीं हैं.’

शी ने यह भी कहा कि पूरी दुनिया में चीन और भारत ही ऐसी दो उभरती अर्थव्यवस्था हैं जिनकी आबादी 1 अरब से ज्यादा है. दोनों देशों के बीच मतभेद के पुराने कारण और सीमा विवाद पर शी जिनपिंग ने कहा कि, ‘हमें सीमा विवाद और अन्य मसलों के संबंध में विशेष प्रतिनिधियों की बैठकों का लाभ उठाना होगा, विश्वसीय कदम उठाने होंगे और सीमावर्ती क्षेत्रों में स्थिरता बनाए रखनी होगी.’

जिनपिंग से बातचीत के बाद मोदी ने ट्ववीट करके कहा कि, “चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के साथ बैठक बेहद फलदायी रही. हमारी बातचीत में भारत-चीन संबंधों के सारे मामले शामिल थे. हम दोनों देशों के बीच इकनॉमिक और कल्चर संबंधों को बेहतर बनाने के लिए मिलकर काम करना जारी रखेंगे.”

शी जिनपिंग ने जल्द ही भारत आने की पुष्टि की

विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा कि, “चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने सहमति जताई है कि दोनों देशों को अपने संबंधों से उम्मीदें बढ़ाने की जरूरत है. PM मोदी ने अगले अनौपचारिक शिखर सम्मेलन के लिए शी जिनपिंग को भारत आने का न्योता दिया. जिनपिंग ने इस साल भारत आने की पुष्टि की है.”

  • PM नरेंद्र मोदी ने SCO समिट से अलग अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से मुलाकात की.
  • मोदी ने जिनपिंग से कहा कि, पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करनी चाहिए

विदेश सचिव विजय गोखले ने कहा, “शिखर सम्मेलन में PM मोदी की शी जिनपिंग से पाकिस्तान के मुद्दे पर विस्तार से बातचीत हुई. PM मोदी ने उनसे कहा कि मौजूद हालतों में पाकिस्तान से बातचीत संभव नहीं है. हमने रिश्ते सुधारने की कोशिश की, लेकिन सफलता नहीं मिली. पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ ठोस कार्रवाई करनी चाहिए. उम्मीद करते हैं कि PAK ठोस कार्यवाही करेगा.”

Leave A Reply

Your email address will not be published.